धालभूमगढ़ में एयरपोर्ट बनने से बढ़ेगी विकास की रफ्तार: रघुवर दास

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि धालभूमगढ़ में एयरपोर्ट बनने से इस क्षेत्र का तेजी
प्रतीक चित्र

रांची. झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि धालभूमगढ़ में एयरपोर्ट बनने से इस क्षेत्र का तेजी से विकास होगा. दास ने यहां गुरुवार को केंद्रीय नागरिक उड्डयन सचिव आर.एन. चौबे के साथ राज्य में बन रहे विभिन्न एयरपोर्ट के कार्यों की समीक्षा के दौरान कहा कि धालभूमगढ़ में एयरपोर्ट बनने से कोल्हान के साथ ही पश्चिम बंगाल और ओडिशा के लोगों को भी इस एयरपोर्ट से लाभ होगा. क्षेत्र में व्यापारिक गतिविधियां बढ़ेंगी. इस एयरपोर्ट को समयबद्ध तरीके से पूरा करना होगा. राज्य सरकार इसमें पूरा सहयोग करेगी. इसी माह के अंत में इस एयटपोर्ट के लिए भूमि पूजन किया जायेगा.

मुख्यमंत्री ने कहा कि 70 साल से इस क्षेत्र की सुध किसी ने नहीं ली. केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार और राज्य सरकार के संयुक्त प्रयास से यह काम सफल हो रहा है. एयरपोर्ट बनने से क्षेत्र के लोगों को रोजगार मिलेगा. अर्थव्यवस्था अच्छी होगी. प्रधानमंत्री जी का सपना है कि हवाई चप्पल पहननेवाला भी हवाई यात्रा कर सके. ज्यादा से ज्यादा लोगों को एयरपोर्ट बनने से इसका लाभ मिलेगा. एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के चेयरमैन गुरुपद महापात्रा ने बताया कि दूसरे विश्व युद्ध के समय की यहां पर हवाई पट्टी बनी हुई है. यह एयरपोर्ट दो फेज में बनाया जायेगा. पहले फेज में यहां छोटे विमानों का आवागमन हो सकेगा. इसका निर्माण दिसंबर 2020 तक बन कर तैयार हो जायेगा. इसके साथ ही दूसरे फेज का काम भी चलता रहेगा.

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि धालभूमगढ़ में एयरपोर्ट बनने से इस क्षेत्र का तेजी
झारखंड के सीएम बैठक करते हुए

ये भी पढ़ें- एक लाख युवाओं को रोजगार देने का लक्ष्य झारखंड में आज पूरा होगा

मुख्यमंत्री ने कहा कि देवघर एयरपोर्ट फरवरी 2020 तक बन कर तैयार हो जायेगा. इसपर 180 सीटर क्षमतावाले विमानों का परिचालन हो सकेगा. भारत सरकार के सचिव ने एयरपोर्ट के निर्माण से विस्थापित लोगों के पुनर्वास के लिए देवघर में किए गए कार्य को अत्यंत सराहनीय बताया और झारखण्ड सरकार और देवघर उपायुक्त को बधाई दी. उन्होंने कहा कि यह एक आदर्श पुर्नवासन है जिस का अनुकरण किया जाना चाहिए.

बैठक में दुमका, बोकारो, पलामू, जमशेदपुर एयरपोर्ट पर भी चर्चा हुई. बैठक में राज्य के मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव सुनील कुमार बर्णवाल, परिवहन सचिव प्रवीण टोप्पो, पथ सचिव केके सोन, जमशेदपुर के उपायुक्त अमित कुमार और देवघर के उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा समेत अन्य अधिकारी उपस्थित थे.