झारखंड के नए मुख्य सचिव डीके तिवारी और विकास आयुक्त सुखदेव सिंह

डीके तिवारी ने सुधीर त्रिपाठी से पदभार ग्रहण कर लिया - Panchayat Times

रांची. झारखंड के 22वें मुख्य सचिव के रूप में रविवार काे डीके तिवारी ने सुधीर त्रिपाठी से पदभार ग्रहण कर लिया है. विकास आयुक्त तथा भारतीय प्रशासनिक सेवा के 1986 बैच के पदाधिकारी डीके तिवारी राज्य के नए मुख्य सचिव बन गए हैं. वहीं 1987 बैच के पदाधिकारी सुखदेव सिंह नए विकास आयुक्त बनाए गए हैं. भारत निर्वाचन आयोग ने बीते दिन ही दोनों की नियुक्ति की स्वीकृति दे दी.

ये भी पढ़ें- चौकीदार मोदी ने पाकिस्तान से कहा, चुनाव से महत्वपूर्ण देश है

किंग जार्ज मेडिकल कॉलेज, लखनऊ से एमबीबीएस करनेवाले मुख्‍य सचिव डीके तिवारी ने भारतीय प्रशासनिक सेवा में आने के बाद मसौढ़ी (बिहार) के एसडीओ के रूप में अपनी सेवा शुरू की थी. वे बिहार के किशनगंज, छपरा आदि जिलों के डीएम भी रह चुके हैं. झारखंड में वे उत्पाद आयुक्त, स्वास्थ्य सचिव, शिक्षा सचिव, भवन निर्माण विभाग के सचिव, श्रम सचिव, नई दिल्ली स्थित झारखंड भवन में स्थानिक आयुक्त के अलावा तत्कालीन मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा के प्रधान सचिव रह चुके हैं. उनकी पत्नी अलका तिवारी भी भारतीय प्रशासनिक सेवा की पदाधिकारी हैं और वर्तमान में केंद्र के रासायनिक एवं उर्वरक मंत्रालय में अपर सचिव हैं.

कार्मिक विभाग के अपर मुख्य सचिव केके खंडेलवाल को योजना सह वित्त विभाग के अपर मुख्य सचिव का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है. निर्वाचन आयोग की सहमति के बाद कार्मिक, प्रशासनिक सुधार तथा राजभाषा विभाग ने इसकी अधिसूचना जारी कर दी है. इधर मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी का कार्यकाल 31 मार्च को खत्म हो जाने के बाद डीके तिवारी ने अपना पदभार संभाल लिया है . सुधीर त्रिपाठी ने रविवार को उन्‍हें जवाबदेही सौंप दी है. सुधीर त्रिपाठी को झारखंड लोक सेवा आयोग का अध्यक्ष बनाया गया है. सुखदेव सिंह को विकास आयुक्त बनाये जाने की अधिसूचना भी जारी की गई है. कार्मिक विभाग के अपर मुख्य सचिव केके खंडेलवाल को योजना एवं वित्त विभाग का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है.