परिजनों ने फीस में वृद्धि के कारण स्कूल के बाहर लगाए नारे

विद्यार्थियों के परिजनों ने फीस में वृद्धि के कारण स्कूल के बाहर लगाए नारे-Panchayat Times

सोलन. कंडाघाट में सोमवार को लोगों में भारी जनाक्रोश देखने को मिला और जमकर मुर्दा बाद के नारे भी लगे. आपको बता दें कि यह नारे सरकार या किसी उद्योग के खिलाफ नहीं लगे बल्कि शिक्षा का मंदिर कहे जाने वाले एक निजी स्कूल के खिलाफ लगे है. यह नारे स्कूल प्रबन्धन के अड़ियल रवैये के कारण विद्यार्थियों के मजबूर परिजनों ने लगाए. परिजनों की माने तो स्कूल प्रबन्धन ने कई गुना वार्षिक फीस में वृद्धि कर दी है. जिसे वह दे पाने में पूरी तरह से असमर्थ हैं. वह चाहते है कि स्कूल फीस में की गई बढ़ौतरी को वापिस लें अन्यथा वह अपना प्रदर्शन और भी उग्र करेंगें.

अधिक जानकारी देते हुए परिजनों ने फीस बढ़ोतरी के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद की थी और स्कूल प्रबन्धन के खिलाफ प्रदर्शन किया था तो मामले को सुलझाने के लिए एसडीएम कंडाघाट, शिक्षा निदेशक ,अन्य अधिकारियों और स्कूल प्रबन्धन के समक्ष पीटीए का गठन किया गया था. लेकिन जब परिजन मीटिंग के लिए स्कूल पहुंचे तो स्कूल प्रबन्धन ने एस डी एम कि ओर से गठित की गई पीटीए को ही मानने से मना कर दिया है. जिसकी वजह से सभी परिजन दुबारा से प्रदर्शन करने के लिए सडकों पर उतरे है और उनका कहना है कि जल्द ही स्कूल अपनी मनमानी को खत्म करें अन्यथा वह अपने प्रदर्शन को और भी उग्र करेंगे.

विद्यार्थियों के परिजनों ने फीस में वृद्धि के कारण स्कूल के बाहर लगाए नारे-Panchayat Times

वहीं एसडीएम कंडाघाट ने भी इस मामले की पुष्टि करते हुए कहा कि कुछ दिन पहले स्कूल के मामले को सुलझा लिया गया था. सभी की सहमती से पीटीए का गठन कर दिया गया था. लेकिन अब स्कूल प्रबन्धन इस निर्णय का आदर नहीं कर रहा है.जिसकी सूचना उपायुक्त सोलन विनोद कुमार को की जा रही है. उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग के आदेशानुसार सभी स्कूलों में पीटीए होनी जरूरी है लेकिन कुछ स्कूल सरकारी आदेशों की अवमानना कर रहे है जिस पर उचित कार्रवाई अमल में लाई जाएग