डॉ. रमन सिंह कोरबा में बताया विकास के सही मायने

रायपुर. मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने कहा है कि जब गरीबों के लिए भरपेट भोजन, स्वाभिमान के साथ इलाज और उनके बच्चों के लिए शिक्षा की व्यवस्था होती है, तब सही मायने में विकास होता है. राज्य सरकार ने गरीबों की इन बुनियादी जरूरतों के लिए पुख्ता इंतजाम सफलतापूर्वक किए हैं. राज्य शासन की योजनाओं से गरीबों के जीवन में सकारात्मक बदलाव आ रहा है.

डॉ. सिंह ने शुक्रवार को कोरबा जिले के विकासखण्ड मुख्यालय करतला में प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान आयोजित आम सभा को संबोधित करते हुए इस आशय के विचार व्यक्त किए. मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं किसानों को धान बोनस की 1700 करोड़ रुपए की राशि और सूखा राहत मद की राशि के वितरण के लिए विकास यात्रा पर निकला हूं. आज कोरबा जिले के किसानों को 28 करोड़ रुपए के धान बोनस की राशि का वितरण होगा. इनमें करतला क्षेत्र के किसान भी शामिल हैं.

मुख्यमंत्री ने करतला की आम सभा में लगभग 184 करोड़ रूपए की लागत के विभिन्न विकास कार्याें का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया. उन्होंने इनमें से लगभग 16 करोड़ 76 लाख रुपए लागत के 17 विभिन्न कार्यों का लोकार्पण और 167 करोड़ 14 लाख रुपए लागत के 75 कार्यों का शिलान्यास और भूमिपूजन किया. इस अवसर पर नगरीय विकास मंत्री  अमर अग्रवाल, लोकसभा सांसद डॉ. बंशीलाल महतो, विधायक लखनलाल देवांगन और पूर्व गृहमंत्री ननकीराम कंवर विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे.

गाड़ी चलाने वाला युवक अब कंप्यूटर चलाकर कमा रहा पैसे

मुख्यमंत्री ने कहा किकरतला क्षेत्र के गांव-गांव में सड़कों का जाल बिछाया गया है. हर मजरे-टोले के सभी घरों में बिजली की रोशनी पहुंचायी जा रही है. भारत सरकार की भारत माला योजना के अंतर्गत बिलासपुर-धरमजयगढ़-रांची तक लगभग 1700 करोड़ रुपए की लागत से 70 किलोमीटर लम्बे 6 लेन सुपर एक्सप्रेसवे का निर्माण किया जाएगा. यह सड़क करतला क्षेत्र से भी होकर निकलेगी. भारत नेट परियोजना के अंतर्गत गांव-गांव में इंटरनेट कनेक्टिविटी देने के लिए 3400 किलोमीटर आप्टिकल फाइबर केबल बिछाया जा रहा है. आने वाले तीन महीनों में महाविद्यालयों के सभी विद्यार्थियों सहित 55 लाख लोगों को मुफ्त स्मार्ट फोन वितरित किए जाएंगे.

उन्होंने बताया कि  प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में गरीब परिवारों की 40 हजार महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन दिए गए हैं. आने वाले समय में इस क्षेत्र में इतने ही कनेक्शन और दिए जाएंगे. राज्य सरकार की ओर से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की व्यवस्था की गई है. किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज पर कृषि ऋण दिया जा रहा है. तेन्दूपत्ता संग्रहण की दर बढ़ाकर 2500 रुपए प्रति मानक बोरा कर दी गई है.

मुख्यमंत्री ने आम सभा में शासन की योजनाओं के तहत हितग्राहियों को महाजाल, तालाब का पट्टा, वीर नारायण सिंह स्वावलंबन योजना, मिनी माता स्वावलंबन योजना, आदिवासी स्व रोजगार योजना, अंत्योदय स्वरोजगार योजना के तहत अनुदान राशि के चेक का वितरण किया. उन्होंने मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना अंतर्गत हितग्राहियों को नियोजन एवं कौशल प्रमाण पत्र, मुख्यमंत्री सायकिल सहायता योजना अंतर्गत सायकल, मुख्यमंत्री औजार सहायता योजना अंतर्गत औजार किट, मुख्यमंत्री सिलाई मशीन सहायता योजना अंतर्गत सिलाई मशीन एवं आबादी पट्टों तथा वन अधिकार पट्टों का वितरण किया.