चंबा में एक घंटे के भीतर भूकंप के तीन झटके, लोग सहमे

चंबा में एक घंटे के भीतर भूकंप के तीन झटके, लोग सहमे-Panchayat Times
प्रतीक चित्र

चंबा. हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले में सोमवार को एक घंटे के भीतर तीन बार भूकंप के झटके महसूस किए गए. इस वजह से इलाके के लोग सहमे हुए हैं. हालांकि, भूकंप से जान-माल का नुकसान नहीं हुआ है.

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि भूकंप का पहला झटका दोपहर 12 बजकर 10 मिनट पर आया, जिसकी तीव्रता रिएक्टर स्केल पर पांच रही. इसका केंद्र जम्मू-कश्मीर और चम्बा के सीमावर्ती क्षेत्र में जमीन से पांच किलोमीटर नीचे दर्ज किया गया. उन्होंने बताया कि दूसरा झटका 12 बजकर 40 मिनट पर लगा, जिसकी तीव्रता 3.2 मापी गई. इसके बाद 12 बजकर 57 मिनट पर 2.7 की तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए.

चंबा में भूकंप के झटके, 16 दिनों में दूसरी बार हिली धरती

मनमोहन ने बताया कि तीन बार आए भूकंप का केंद्र जमीन से पांच किलोमीटर नीचे चम्बा और जम्मू कश्मीर का सीमावर्ती इलाका ही रहा. भूकंप से किसी तरह के जान-माल के नुकसान की सूचना नहीं है. लेकिन दहशत के कारण लोग घरों से बाहर आ गए. इससे पहले बीते रविवार को भी चंबा में दो बार भूकम्प आया था. चंबा में इससे पहले बीते 22 अगस्त को 2.7 की तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए थे. इससे पूर्व विगत 25 जुलाई को भी यहां भूकंपआया था. चंबा और आसपास के इलाकों में पिछले कुछ वर्षों से कई बार कम तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए जाते रहे हैं.

उल्लेखनीय है कि हिमाचल प्रदेश भूकंप की दृष्टि से अतिसंवेदनशील जोन-4 और जॉन-5 में स्थित है. ऐसे में यहां पर भूकंप आने की ज्यादा संभावना रहती है. संकेतों के मुताबिक एक भयानक भूकंप कभी भी आ सकता है. साल 1905 में कांगड़ा और चंबा जिलों में आए विनाशकारी भूकंप से 10 हजार से अधिक लोग मारे गए थे.