लोकसभा चुनाव में इलेक्शन कमीशन ऐसे रखेगा फेक न्यूज पर नजर

लोकसभा चुनाव में इलेक्शन कमीशन ऐसे रखेगा फेक न्यूज पर नजर-Panchayat Times

न्यू दिल्ली. बीते रविवार को भारत के मुख्य चुनाव आयुक्त सुनिल अरोड़ा ने लोकसभा चुनाव की तारीख को ऐलान कर दिया था. चुनाव छह चरणों में होंगे. इसके साथ ही यह मतदान 11 अप्रैल से शुरू होकर 19 मई तक चलेंगे. चुनाव के नतीजे 23 मई को घोषित किए जाएंगे.

चुनाव के ऐलान के साथ ही सीईसी अरोड़ा ने कहा कि सभी प्रमुख नेशनल और क्षेत्रीय समाचार चैनलों पर चुनाव प्रबंधन से संबंधित समाचारों की निगरानी चुनाव के दौरान की जाएगी. फर्जी खबरों और अभद्र भाषा के इस्तेमाल से बचने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म “उचित तथ्य चेकर्स” को भी तैनात करेगा.

उन्होंने आगे कहा कि प्रत्येक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ने चुनाव प्रक्रिया के दौरान केवल पूर्व-प्रमाणित राजनीतिक विज्ञापनों को स्वीकार करने के लिए एक प्रणाली बनाई है. इसके साथ ही विज्ञापन में हुए खर्चो का ब्योरा चुनाव अधिकारियों के साथ साझा करें.

सोशल मीडिया पर ट्रोल होने वालों की मदद करते हैं ये ग्रुप्स

उन्होंने कहा कि सभी प्रमुख राष्ट्रीय और क्षेत्रीय समाचार चैनलों पर चुनाव प्रबंधन से संबंधित समाचारों की निगरानी चुनाव के दौरान सख्ती से की जाएगी. अगर किसी भी तरह की अप्रिय घटना या किसी कानून का उल्लंघन होता है, तो उसपर जल्द से जल्द कार्रवाई की जाएगी.

आयुक्त ने कहा कि सभी प्लेटफार्मों पर जल्द से जल्द प्रतिक्रिया के लिए इलेक्शन कमीशन प्राथमिकता चैनल स्थापित करने पर सहमति व्यक्त की है. उन्होंने 11 अप्रैल से 19 मई तक होने वाले चुनाव के लिए शिकायत अधिकारियों की भी नियुक्ति की है. प्लेटफॉर्म फर्जी खातों के खिलाफ पहले से ही कार्रवाई कर रहे हैं. कार्रवाई पर एक सवाल के जवाब में चुनाव आयोग प्लेटफार्मों के खिलाफ ले सकता है, उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया और प्रिंट मीडिया चुनाव कानून के दायरे में नहीं आते हैं.