राजस्थानी रेगिस्तान में महिला फौजी की इस तस्वीर के दावे का सच

महिला भारतीय फौज का हिस्सा है और रेगिस्तान की तपते धूप में...Panchayat Times
asia ramazan antar

नई दिल्ली. फेक न्यूज की गिरफ्त से कोई न बच पाया है. आज के जाली खबर में हम एक फोटो की पड़ताल कर रहे हैं. जिसमें दावा किया गया है कि ये महिला भारतीय फौज का हिस्सा है और रेगिस्तान की तपते धूप में भी देश सेवा कर रही हैं. फेक न्यूज की मोह माया ही कहिये कि बिना इस फोटो की सत्यता को समझे हजारों लोगों ने इसे शेयर कर दिया और लाखों लोगों के पास धड़ल्ले से ये फोटो पहुंच गई. न जानें कितनी ही जाली खबरें हमारे पास परोसी जाती हैं. लेकिन लोग बिना उसकी सच्चाई जाने उसपर भरोसा कर लेते हैं. और तो और उसे लाइक करते हुए शेयर भी कर देते हैं. जिससे झूठ इतना बड़ा बन जाता है कि सच लगने लगता है. लेकिन सच तो सच होता है कभी न कभी तो सामने आ ही जाता है.

इस फोटो की सच्चाई की बात करें तो ये फोटो बिलकुल एक महिला की है, और वो एक तरह की फौजी या लड़ाकू भी हैं लेकिन भारत की नहीं है. और न ही अब इस दुनिया में जीवित हैं. बता दें कि इस महिला का असली नाम ‘आसिया रमजान आंतर’ Asia Ramazan Antar है. ये महिला सीरिया के कुर्दिस्तान की रहने वाली हैं. कुर्दिस्तान की इस लड़ाकू महिला को आईएसआईएस ने सन 2016 में इसकी हत्या कर दी. आसिया की खूबसूरती की चर्चा भी खूब थी, कुछ लोग तो इस महिला को कुर्दिश एंजलिना जॉली भी कहा करते थे. इसे भारतीय फौजी बनाकर फेसबुक पर खूब शेयर किया गया पर सरासर फेक है. हिन्दुस्तानी सेना और I Am With Indian Army जैसे ग्रुप्स और पेज ने इस झूठी खबर को शेयर किया. वहीं अब पेजों से इस जाली खबर को हटा लिया गया है.

 

इस घटना को अंतराष्ट्रीय मीडिया सहित भारतीय मीडिया ने भी प्रकाशित किया था. इस तस्वीर को लेने वाले शक्श का नाम Alberto Hugo Rojas है. इस फोटोग्राफर ने नवंबर 2016 को इस तस्वीर को फेसबुक पर डाला था.