नए कृषि कानूनों के विरोध में आज रेल रोकेंगे किसान, रेलवे ने बढ़ाई सुरक्षा

नए कृषि कानूनों के विरोध में आज रेल रोकेंगे किसान, रेलवे ने बढ़ाई सुरक्षा
Source - Internet

नई दिल्ली. केंद्र की मोदी सरकार द्वारा लाये गए तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में आज यानि गुरूवार को किसानों द्वारा ‘रेल रोको’ अभियान का आव्हान किया जाएगा. दोपहर 12 बजे से शाम 4 बजे तक किसान रेल की रफ्तार पर ब्रेक लगा कर रखेंगे.

किसानों के ‘रेल रोको’अभियान के तहत रेलवे ने सुरक्षा के पुख्ता इंतेजाम किये है. ताकि रेलवे की संपत्ति को किसी भी प्रकार का नुकसान ना पहुंचे. हालांकि किसानों द्वारा अहिंसक ‘रेल रोको’ अभियान का ऐलान किया गया है. लेकिन ट्रेक्टर परेड में हुई हिंसा के बाद प्रशासन अलर्ट है.

भारतीय रेलवे ने रेलवे सुरक्षा विशेष बल (RPSF) की 20 अतिरिक्त कंपनियां तैनात की है. सबसे बड़ी बात यह है कि रेलवे की ओर से खास तौर पर पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में चप्पे-चप्पे पर ये सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं. संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने कृषि कानूनों को निरस्त किये जाने की मांग को लेकर पिछले सप्ताह ‘रेल रोको’ अभियान की घोषणा की थी.

शांतिपूर्ण रहेगा ‘रेल रोको’ अभियान – राकेश टिकैत

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि आज रेल रोको आंदोलन दोपहर 12 बजे शुरू होगा और दोपहर 3-4 बजे तक चलेगा. ट्रेनें वैसे भी थम नहीं रही हैं. यह शांति से किया जाएगा. हम उन यात्रियों को पानी, दूध, लस्सी और फल प्रदान करेंगे, जो फंसे हुए पाए जाएंगे.साथ ही उन्हें हम उन्हें अपने मुद्दे बताएंगे.

इसके साथ ही आपको बता दें कि तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में किसान लगभग 3 महीने से दिल्ली की सीमाओं पर डटे है. किसानों की मांग है कि तीनों नए कानून वापस लिए जाये और MSP को कानूनी जामा पहनाया जाये. केंद्र सरकार और किसानों के बीच 11 दौर की वार्ता बेनतीजा रही है.