दुमका में पिता-पुत्र ने आदिवासियों के विकास के लिए कुछ नहीं किया: भाजपा

झारखंड में विपक्षी दल तमाम कोशिशों और गठबंधन बनाकर भाजपा...
प्रतीक चित्र

दुमका. भाजपा नेता सुनील साहू ने दावा किया है कि दुमका में पिता शिबू सोरेन और पुत्र हेमंत सोरेन ने आदिवासियों के विकास के लिए कुछ नहीं किया. इस क्षेत्र में झामुमो का एकछत्र राज होने के बावजूद यह क्षेत्र बुनियादी जरूरतों के लिए आज भी तरस रहा है. इसके लिए पिता-पुत्र जिम्मेवार हैं.

वह रविवार को दुमका लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार सुनील सोरेन के पक्ष में जनसंपर्क अभियान के दौरान लोगों को संबोधित कर रहे थे. साहू ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार एवं राज्य की रघुवर सरकार ने राज्य एवं देश की तस्वीर
बदलने का काम किया है.

राज्य में पीएम आवास, उज्ज्वला योजना आदि का असर दिख रहा है. झामुमो को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा कि अब पिता-पुत्र से विकास उम्मीद करना बेमानी है. प्रधानमंत्री के रूप में मोदी की देश को दोबारा जरूरत है. गांव-गांव में भाजपा की लहर है और इस बार दुमका लोकसभा क्षेत्र में निश्चित रूप से कमल खिलेगा.

यह भी पढ़े: किसानों की समृद्धि के लिए संकल्पबद्ध हैं प्रधानमंत्री: सुदर्शन भगत

भाजपा काठीकुंड प्रखंड इकाई में उम्मीदवार सुनील सोरेन के पक्ष में पदयात्रा सह जनसम्पर्क अभियान चलाया गया. अभियान का नेतृत्व मंडल अध्यक्ष लालचंद पाल एवं बबलू मंडल ने संयुक्त रूप से किया. इसकी शुरुआत पंदनपहाड़ी
पंचायत के झिलिमिली, कौड़िया, तकरारपुर, बंदरपानी गांव से हुई. इसके बाद अस्ताजोड़ा पंचायत के सिंघनी अंबा, खेरबनी बूथ एवं बड़ा चपुड़िया, बड़ा भुईभंगा में भी पदयात्रा कर जनसंपर्क किया गया.