हिमाचल बना ऊर्जा संरक्षण भवन संहिता लागू करने वाला पहला राज्य

हिमाचल बना ऊर्जा संरक्षण भवन संहिता लागू करने वाला पहला राज्य-Panchayat Times
साभार इंटरनेट

शिमला. व्यवसायिक भवनों में बिजली की खपत कम करने के उद्देश्य से प्रदेश सरकार ने हिमाचल प्रदेश ऊर्जा संरक्षण भवन संहिता-2018 के सम्बन्ध में अधिसूचना जारी की है. देश में इस प्रकार की संहिता लागू करने वाला हिमाचल पहला राज्य है. इस संहिता के प्रावधानों को नगर एवं ग्राम नियोजन विभाग के नियमों में समयोजित करने के उपरान्त संहिता को नगर एवं ग्राम नियोजन विभाग कि ओर से प्रदेश में कार्यन्वित किया जाएगा.

ऊर्जा निदेशालय के एक प्रवक्ता ने सोमवार को कहा कि यह संहिता भारत सरकार के ऊर्जा मंत्रालय के ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी द्वारा ऊर्जा संरक्षण अधिनियम-2001 के तहत बनाया गया है और प्रत्येक राज्य को प्रभावी कार्यान्वयन के लिए स्थानीय जलवायु परिस्थितियों के आधार पर संहिता में संशोधन करने और अधिसूचित करने की आवश्यकता है.

प्रवक्ता ने बताया कि एचपीईसीबीसी एवं नियम, 2018 के अनिवार्य कार्यान्वयन के अनुसार प्रत्येक व्यावसायिक भवन जैसे कि शैक्षणिक संस्थान, शॉपिंग परिसर, होटल, अस्पताल, और मल्टीप्लेक्स आदि जिसका क्षेत्र 750 वर्ग मीटर या इससे अधिक हो, उन सभी भवनों को हिमाचल प्रदेश में ऊर्जा संरक्षण भवन संहिता व नियम, 2018 के अनुसार ही भवन निर्माण की स्वीकृति प्रदान की जाएगी. एचपीईसीबीसी-2018 से व्यावसायिक भवनों की ऊर्जा खपत मांग को 30 प्रतिशत तक कम करने की उम्मीद है.

उन्होंने कहा कि ऊर्जा संरक्षण भवन संहिता व नियम, 2018 को नगर एवं ग्राम नियोजन विभाग, हिमाचल प्रदेश लोक निर्माण विभाग, हिमुडा, शहरी विकास विभाग, हिमऊर्जा, एचपीएसईबीएल, ग्रामीण विकास विभाग जैसे हितधारक विभागों के साथ परामर्श के बाद तैयार किया गया है.