जय राम को मुख्यमंत्री बनाने की बात सबसे पहले मैंने की थी: सुखराम

जय राम को मुख्यमंत्री बनाने की बात सबसे पहले मैंने की थी: सुखराम-Panchayat Times
साभार इंटरनेट

मंडी. वरिष्ठ कांग्रेस नेता पं. सुखराम द्रंग कांग्रेस सम्मेलन में दिए अपने ब्यान से पलट गए हैं. यहां जारी बयान में पं. सुखराम ने कहा कि मैंने कभी नहीं कहा कि अनिल शर्मा मुख्यमंत्री के दावेदार थे. हम तो भाजपा में नए-नए थे. जबकि मंडी से जय राम ठाकुर मुख्यमंत्री बनें इस बारे सबसे पहले बयान उन्होंने पीटर हाफ में दिया था.

सुखराम ने कहा कि मुख्यमंत्री बनाना या चुनना पार्टी हाई कमान और चुने हुए विधायकों पर निर्भर करता है, न कि हमारे परिवार पर. अनिल शर्मा ने मंत्री पद से इस्तीफा नैतिकता के आधार पर दिया है. सरकार ने उनसे इस्तीफा नहीं मांगा है.
मुख्यमंत्री अपनी जनसभाओं में आधे से ज्यादा समय हमारे परिवार की आलोचना करने में लगाते हैं, इससे बेहतर होगा कि वह सरकार के विकास कार्यों की बात करें.

उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े ग्यारह महीने में हिमाचल खासकर मंडी जिला की सड़कों की हालत खस्ता हुई है. सड़कों पर डेढ-दो फुट गहरे गड्ढे पड़े हुए हैं. जिससे प्रदेश का पर्यटन प्रभावित हो रहा है. इस बारे में मुख्यमंत्री को चिंतन करना चाहिए.

अनिल शर्मा को बनाना चाहिए था हिमाचल का सीएम : सुखराम

सुखराम ने कहा कि चुनाव आते-जाते रहते हैं, लेकिन हमें अपनी संस्कृति और मर्यादाओं को नहीं भूलना चाहिए. जनता इस बात को अच्छी तरह जानती है कि किस में कार्य करने की कितनी क्षमता है और किसने हिमाचल में विकास और रोजगार के अवसर पैदा किए हैं.

पं. सुखराम ने कहा कि मेरा परिवार कई वर्षों से राजनीति में है ,हमने कई उतार चढ़ाव देखे हैं. लेकिन जनता की सेवा करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है और भविष्य में भी जनता की सेवा करते रहेंगे, हमे किसी तरह का कोई लालच नहीं है.