झारखंड में पांच दिवसीय राज्यव्यापी टीकाकरण दोबारा शुरू

डाल्टेनगंज. स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने राज्यभर में पांच दिनों के लिए वैक्सिन कार्यक्रम चलाया है. पलामू में टीकाकरण के बाद चार बच्चों की मौत के दो सप्ताह बाद इस टीकाकरण दोबारा शुरू किया गया है.

राज्य स्वास्थ्य सेवा के निदेशक डॉ. सुमंत मिश्रा ने कहा कि ड्राइव के दरम्यान साल में 8.30 लाख बच्चों का टीकाकरण होना है.

आठ अप्रैल को पलामू जिले के लोइंगा गांव में जापानी इंफेलाइटिस, मिजल्स और डीपीटी के टीकाकरण के 24 घंटे के भीतर चार बच्चों की मौत हो गई थी. चारों बच्चे दो साल से कम उम्र के थे. मौत के मामले की जांच की जा रही है. घटना के बाद टीकाकरण को लेकर पलामू जिले में संशय बना हुआ है.

हालांकि राज्यव्यापी टीकाकरण से लोइंगा को अलग रखा गया है. कोई स्पष्ट कारण बताए बिना मिश्रा ने मामले में कहा, “जिला यूनिट तय करती है कि किस गांव में टीकाकरण किया जाए.” पलामू के 70 गांवों को टीकाकरण में शामिल किया गया है.

मिश्रा ने कहा कि कर्मियों को जनता को समझाने को कहा गया है कि टीकाकरण नहीं करवाने पर उनके बच्चों को बीमारी का खतरा है. इसके लिए 23 सिविल सर्जन को भेजा गया है. विश्वास बहाली के लिए लोगों से बातचीत किया जाएगा.
इधर भाजपा के एमएलए राधाकृष्ण किशोर स्वास्थ्य मंत्री से सवाल किया कि एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी स्वास्थ्य मंत्री लोइंगा के पीड़ित परिवारो से नहीं मिल पाएं हैं वह कहीं और व्यस्त हैं.

कॉमेंट करें

अपनी टिप्पणी यहाँ लिखें
अपना नाम यहाँ लिखें