पिछले मंत्रियाें ने अभी तक खाली नहीं किये अपने आवास

पिछले मंत्रियाें ने अभी तक खाली नहीं किये अपने आवास - Panchayat Times

रांची. पिछले विधानसभा सत्र में मुख्यमंत्री काे छाेड़कर अन्य मंत्रियों को जो आवास आवंटित किए गए थे, उन आवासाें काे पिछले मंत्रियाें ने अभी तक खाली नहीं किया है. जो मंत्री चुनाव जीत कर आए हैं, उन्हें या तो नया आवास आवंटित हाेगा ताे उसमें जाना हाेगा या फिर उन्हें पूर्व में आवंटित आवास का पुर्नआवंटन किया जाता है ताे उसमें रह सकते हैं.

तीन ही मंत्रियाें ने ली है शपथ

ऐसे में पिछली सरकार के मंत्रियों आवंटित को आवास छाेड़ना पड़ेगा. नई सरकार में अब तक मुख्यमंत्री के अलावा तीन ही मंत्रियाें ने शपथ ली है. ऐसे में मंत्रिमंडल का पूर्ण विस्तार हाेने के बाद ही सभी मंत्रियाें का आवास एक साथ आवंटित किए जाने की संभावना है.

हालांकि संसदीय कार्यमंत्री आलमगीर आलम की पसंद पूर्व ग्रामीण विकास मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा का आवास है. इसी तरह मंत्री सत्यानंद भाेक्ता की पसंद लुईस मरांडी काे पिछले सत्र में रातू राेड पर मिला आवास है. उन्हाेंने उस आवास के लिए इच्छा व्यक्त की है. इसके अलावा मंत्री डा. रामेश्वर उरांव ने सांसद सीपी चाैधरी के आवास के बारे में अनुराेध किया है.

तो स्मार पत्र भेज किया जाएगा अनुरोध

विधानसभा चुनाव 2019 में चुनाव हार जाने वाले वैसे विधायक जाे विधानसभा द्वारा आवंटित आवास में रह रहे हैं, इन्हें आवास खाली करने के लिए सात जनवरी के बाद नाेटिस जारी करते हुए 15 दिनाें का समय दिया गया है. आवास नहीं खाली करने की स्थिति में उन्हें फिर से स्मार पत्र भेजकर आवास खाली करने काे कहा जाएगा.

जिन 30 विधायकाें काे नाेटिस भेजा गया है, वे विधानसभा परिसर स्थित विधायक आवास और परिसर के बाहर विधानसभा पुल के आवासाें में रह रहे हैं. अगर दाे बार की नाेटिस के बाद भी आवास नहीं खाली हाेता है, तब इसके लिए प्रशासन काे पत्र लिखा जाएगा.

जल्द अपने आवास में शिफ्ट होंगे स्पीकर

स्पीकर रविंद्रनाथ महताे जल्द ही विधानसभा अध्यक्ष के लिए आवंटित आवास में शिफ्ट हाे जाएंगे. फिलहाल स्पीकर आवास की साफ-सफाई का काम चल रहा है. आवास में कहीं-कहीं मरम्मत भी हाे रही है. उन्होंने निर्देश दिया है कि जहां अतिआवश्यक है, वहीं पर मरम्मत या पेंटिंग का काम किया जाए. मरम्मत और साफ-सफाई का काम लगभग पूरा हाेने के कगार पर है. काम पूरा हाेते ही स्पीकर रविंद्रनाथ महताे उसमें शिफ्ट हो जाएंगे. फिलहाल वे विधानसभा परिसर स्थित विधायक आवास में ही रह रहे हैं. यह आवास उन्हें पिछले सत्र में ही आवंटित किया गया था.

मंत्री चंद्रवंशी के आवास से नेम प्लेट हटा, पर बोर्ड अब भी है

पूर्व मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने अपने आवास पर लगा नेम प्लेट तो हटवा दिया है, जिसपर उनका नाम और स्वास्थ्य मंत्री लिखा था. लेकिन आवास के बाहर लगे बाेर्ड पर अब भी स्वास्थ्य मंत्री ही लिखा हैं. हालांकि राज्य के अन्य सभी पूर्व मंत्रियाें ने अपने आवास पर नेम प्लेट लगे हुए जिसमें मंत्री लिखा हुआ था.