सारठ के पूर्व विधायक चुन्ना सिंह झाविमो में शामिल

सारठ के पूर्व विधायक चुन्ना सिंह झाविमो में शामिल-Panchayat Times
साभार इंटरनेट: उदय शंकर सिंह

जामताड़ा. सारठ के पूर्व विधायक चुन्ना उर्फ उदय शंकर सिंह बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री सह झाविमो प्रमुख बाबुलाल मरांडी के पार्टी में अपने हजारों समर्थकों के साथ शामिल हो गए. इसे लेकर बुधवार को सारठ के पास तेतरियाटांड़ में एक जनसभा को संबोधित करते हुए झाविमो सुप्रीमो मरांडी ने कहा कि सारठ एवं चुन्ना सिंह से अपने राजनीतिक जीवन में एक बेहतर संबंध रहा है.

भले ही राजनीतिक सफर में हमलोगों के बीच कुछ वर्षों से दुरियां बढ़ गई थी. जिसे आज पाटने के लिए इस कार्यक्रम में मौजूद जनसैलाब को साक्षी मानकर हमलोग पुनः एक परिवार में शामिल हो रहे हैं. मरांडी ने राफेल और देश में बढ़ती बेरोजगारी और शिक्षा के क्षेत्र में आई गिरावट को लेकर केन्द्र सरकार के मुखिया पीएम मोदी को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि बीजेपी सिर्फ भावनात्मक मुद्धे के बल पर चुनाव मैदान में है. जबकि महागठबंधन इस देश के नौजवानों को काम और उसके सम्मान के लिए तथा भाईचारगी के लिए चुनावी मैदान में है. इस अवसर पर पार्टी के केन्द्रीय महासचिव प्रदीप यादव, डाॅ. सबा अहमद समेत अन्य ने भी अपने विचार रखते हुए केन्द्र सरकार के खिलाफ जमकर निशाना साधा।
गौरतलब है कि कि पूर्व विधायक चार बार सारठ विधान सभा का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं.

विगत 2014 के विधानसभा चुनाव में वह भाजपा के उम्मीदवार थे. जहं अपने निकटतम प्रतिद्धंदी झाविमो के तत्कालिन उम्मीदवार रणधीर सिंह के हांथों पराजीत हो गये थे. बाद में चुनाव जीतने के बाद रणधीर सिंह झाविमो के आधा दर्जन विधायकों के साथ भाजपा में शामिल होकर रघुवर सरकार में कृषि मंत्री बन गए. वैसे भी लोकसभा चुनाव के पूर्व चुन्ना सिंह का भाजपा को टाटा वॉय वॉय कर झाविमो में शामिल होने से महागठबंधन का पलड़ा निश्चित रूप से दुमका एवं गोड्डा लोकसभा क्षेत्र में बढ़ता दिख रहा है.