हिमाचल : 2012 से चल रहा था परीक्षा फर्जीवाडे का धंधा

हिमाचल : 2012 से चल रहा था परीक्षा फर्जीवाड़े का धंधा - Panchayat Times

धर्मशाला. पुलिस भर्ती सहित अन्य परीक्षाओं में फर्जीवाड़े का खेल हिमाचल में वर्ष 2012 से चल रहा है. यह खुलासा पुलिस भर्ती फर्जीवाड़े के मुख्य आरोपी बिक्रम ने पुलिस के समक्ष किया है. पुलिस के समक्ष अब तक बिक्रम ने 12 ऐसे लोगों के नाम बताए हैं जिन्होंने फर्जीवाड़े के माध्यम से सरकारी नौकरी हासिल की हैं.

12 लोगों को मिली नौकरी

इन 12 लोगों में से आठ पुलिस विभाग में, दो एचआरटीसी में कंडक्टर और दो जेल वार्डन में फर्जीवाड़ा कर परीक्षा पास कर भर्ती हुए हैं. अब पुलिस इन सभी के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करेगी. पुलिस विभाग ने अपने कर्मचारियों सहित संबंधित विभागों को भी भर्ती हुए लोगों के खिलाफ कार्यवाही के लिए लिखा है.

कांगड़ा के पुलिस अधीक्षक विमुक्त रंजन ने गुरुवार को बताया पुलिस, जेल वार्डन और एचआरटीसी में फर्जी तरीके से भर्ती हुए करीब एक दर्जन लोगों नाम मुख्य आरोपी ने पुलिस रिमांड के दौरान उगले हैं. उन्होंने बताया कि पुलिस विभाग खुलासे में सामने आए नामों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करेगा.

2012 से 2017 के दौरान हुए भर्ती

उन्होंने बताया कि यह लोग वर्ष 2012 से 2017 के दौरान भर्ती हुए हैं. उन्होंने कहा कि पुलिस अभी और भी राज मुख्य आरोपी से उगलवाने में लगी हुई है. पुलिस यह पता लगा रही है कि इस धंधे में आरोपी के साथ और कौन-कौन लोग जुड़े हैं.