जोधपुर में झारखंड की महिला से सामूहिक दुष्कर्म

झारखंड की महिला से जोधपुर में सामूहिक दुष्कर्म - Panchayat Times
प्रतीक चित्र

जोधपुर. झारखंड की महिला से जोधपुर में सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज हुआ है. जोधपुर जिला के रामसागर चौराहा के पास में गुरुवार की सुबह बेहोशी की हालत में मिली महिला ने अपने साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म की कहानी पुलिस को बताई है. उसके साथ चार लोगों द्वारा ज्यादती किए जाने की जानकारी दी गई है. महिला अस्पताल में भर्ती है और उसकी मानसिक स्थिति पर भी डॉक्टर आशंका जता रहे हैं., जो ठीक नहीं बताई जा रही है. फिलहाल पुलिस अधिकारी महिला द्वारा बताई गई बात की तस्दीक करने में जुटे हैं.

दरअसल गुरुवार की सुबह एंबुलेंस 108 ने एक महिला को राम सागर चौराहा के पास उठाकर बेहोशी की हालत में एमजीएच पहुंचाया था. उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं पाए जाने पर पुलिस ने बयान लेने का प्रयास किया था, मगर वह बहकी-बहकी बातें कर रही थी. उसका ट्रीटमेंट चल रहा है. इधर शुक्रवाार को मामला कुछ और सामने आया.

विवाद के बाद घर छोड़ दिया

महिला के पास बयान लेने गई पुलिस को हैरानी हुई. इस महिला ने बताया कि वह झारखंड की रहने वाली हैं. सात साल पहले पति से विवाद के बाद पिता और भाई के साथ रहने कानपुर चली गई. मगर यहां पर भी वह अपने भाई से विवाद के बाद घर छोड़ दिया.

ये भी पढ़ें- बोकारो में पुलिसकर्मी जर्जर भवन में काम करने को मजबूर

इसके बाद वह एक ट्रेन में बैठकर आ गई. मगर वह कौन से स्टेशन पर उतरी इसका उसे पता नहीं है. वह जोधपुर पहुंची और मगर जगह क्या थी उसे नहीं मालूम. उसे एक ट्रक चालक ने लिफ्ट देकर बिठा दिया. यह ट्रक चालक उसे एक स्थान पर लेकर गया जहां पर चार लोगों ने शराब पीकर उससे ज्यादती की. बाद में गुरुवार सुबह उक्त स्थान यानी रामसागर चौराहा के पास छोड़ दिया. वह बेहोश थी.

मामला उलझन भरा

पुलिस अधिकारी उसके बयान लेने एमजीएच गए. एसीपी मंडोर नविता खोखर, मंडोर थानाधिकारी आनंद कुमार आदि अस्पताल पहुंचे और महिला ने पर्चा बयान दिया. डॉक्टर्स ने भी महिला की मानसिक स्थिति पर अंदेशा जताया है. जो ठीक नहीं लग रही. अब पुलिस इस संबंध में प्रकरण दर्ज करने के साथ उन लोगों की पहचान में जुटी है जिनकी ज्यादती की महिला शिकार हुई है. सुबह महामंदिर और मंडोर पुलिस भी बयान लेने गई थी. मगर मामला उलझन भरा दिखा.