गोरखपुर उपचुनाव: मतगणना को लेकर डीएम पर उठे सवाल, चुनाव आयोग ने मांगी रिपोर्ट

नई दिल्ली.  उत्तर प्रदेश के गोरखपुर सीट पर राउंड वाइज आ रहे चुनाव परिणामों को लेकर विपक्ष ने सवाल उठाए हैं. समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार प्रवीण निषाद ने अपने समर्थकों को काउंटिंग सेंटर से बाहर निकालने का आरोप लगाया. वहीं डीएम की ओर से मतगणना केंद्र में मीडिया पर रोक लगाने को लेकर विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया.

बीजेपी उम्मीदवार उपेंद्र शुक्ल पहले राउंड की काउंटिंग के बाद आगे चल रहे थे, लेकिन दूसरे राउंड की गिनती पूरी होने के बाद बीजेपी जैसे ही पिछड़ी तो जिले के डीएम राजीव रौतेला ने नतीजों की घोषणा ही रोक दी. काउंटिंग में देरी का हवाला देकर प्रशासन काउंटिंग की सूचना मीडिया को देने से बचता दिखा और ना ही उसे अंदर जाने दिया गया. हालांकि अंदर डीएम मौजूद रहे. डीएम पर चुनाव नतीजों की घोषणा में देरी पर चुनाव आयोग ने रिपोर्ट मांगी है.

सोनिया गांधी के रात्रि भोज में यह दिग्गज नेता हुए शामिल

प्रशासन के इस रवैये से विधानसभा में विपक्ष ने जमकर हंगामा किया, जिसके बाद विधानसभा 10 मिनट के लिए स्थगित कर दी गई. समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता सुनील सिंह यादव ने कहा गोरखपुर में वोट कांउटिंग में बीजेपी के गिरते वोटो का अंतर कम होने की बौखलाहट में मीडिया को इसे प्रसारित करने से रोका जाना लोकतंत्र के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है. पहले ईवीएम और अब कप्तान और डीएम के भरोसे ही जीतना है तो चुनाव की जरूरत क्या है.

इससे पहले समाजवादी पार्टी (सपा) के उम्मीदवार प्रवीण कुमार निषाद ने गोरखपुर में ईवीएम पर सवाल खड़े किए थे.