आदिवासी के विकास के नाम पर सत्ता में आई सरकार को आदिवासियों की कोई चिंता नहीं : अरूण उरांव

आदिवासी के विकास के नाम पर सत्ता में आई सरकार को आदिवासियों की कोई चिंता नहीं : अरूण उरांव - Panchayat Times

रांची. भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व आईपीएस अधिकारी अरूण उरांव ने कहा कि आदिवासी मूलवासी के विकास के नाम पर सत्ता में आई हेमंत सरकार को आदिवासियों की कोई चिंता नहीं है. इससे आदिवासी समाज में निराशा है.

उन्होंने कहा कि इस सरकार में आदिवासी असुरक्षित हैं. यह सरकार, आपके द्वार कार्यक्रम का दावा करती है, दम्भ भरती है, लेकिन आदिवासियों की सुध लेने वाला कोई नहीं है.

उरांव ने कहा कि छह मार्च को लातेहार के सदर प्रखंड के कुड़पनी टोला में आदिम जनजाति परिवार के तीन सदस्य नदी में अचानक आई बाढ़ से बहकर मर गए. बड़ी मुश्किल से दासी परहिया, संगीता देवी और इनकी चार वर्ष की बेटी छलकिता कुमारी की लाश मिली.

उन्होंने कहा कि अभी तक सरकार का कोई भी प्रतिनिधि इनकी सुध लेने नहीं पहुंचा. यह सरकार पूरी तरह संवेदनहीन सरकार है. इसके पूर्व भी नवजात की डेड बॉडी को एम्बुलेंस के अभाव में पॉलीथिन के माध्यम से घर तक परिजन द्वारा ले जाने की खबर भी आई थी. उरांव ने कहा कि सरकार बनते ही आदिवासियों की नृशंश हत्या से सरकार की आदिवासियों के प्रति कितनी चिंता है, यह बात लोग समझ चुके हैं.