‘ग्राम स्वराज अभियान’ से ग्रामीण हिमाचली को लाभ

हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने 'ग्राम स्वराज अभियान' कार्यक्रम का शुभारंभ

सोलन. केंद्र सरकार की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने और उन्हें कामयाब करने के लिए “ग्राम स्वराज अभियान- सबका साथ, सबका गांव, सबका विकास कार्यक्रम” चलाया जा रहा है. 14 अप्रैल को सोलन में हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने ‘ग्राम स्वराज अभियान’ कार्यक्रम का शुभारंभ किया है. कार्यक्रम का उद्देश्य सामाजिक सौहार्द को बढ़ावा देना और गरीब परिवारों तक पहुंच कायम करना है. केंद्र सरकार की विभिन्न जन-कल्याणकारी योजनाओं और कार्यक्रमों से वंचित रहे सभी लोगों को इनके दायरे में लाकर लाभ पहुंचाना है. इस अभियान में केंद्र सरकार की सात योजनाओं को सफल बनाने के लिए जिला, खंड और पंचायत स्तर पर आठ आयोजन किए जाएंगे. पांच मई को यह कार्यक्रम समाप्त हो जाएगा.

ये भी पढ़ें – आइए जानते हैं क्या होती है पंचायत

ग्रामीण विकास, पंचायती राज. के निदेशक राकेश कंवर ने बताया कि केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार की तरफ से ‘ग्राम स्वराज अभियान’ चलाई जा रही है. जिसमें केंद्र सरकार की योजनाओं को न केवल जनता तक पहुंचाना है बल्कि उन योजनाओं का लाभ जन-जन तक पहुंचे यह सुनिश्चित भी करना है.

हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने 'ग्राम स्वराज अभियान' कार्यक्रम का शुभारंभ
ग्रामीण विकास, पंचायती राज. के निदेशक राकेश कंवर

राकेश कंवर ने बताया कि इस योजना के साथ-साथ एक अन्य अभियान भी चलाया जा रहा है. जिसके तहत हिमाचल प्रदेश के 10 जिलों के 93 गांवों में चलाई जा रही केंद्र सरकार की सात योजनाओं को शत प्रतिशत लागू किया जाएगा. जिसमें मुख्य उजाला योजना, उज्ज्वला योजना, जनधन योजना, समाजिक सुरक्षा योजना है. जिसमें विभिन्न मंत्रालय और विभाग इन योजनाओं को सफल बनाने के लिए सहयोग करेंगे. उन्होंने बताया कि इस अभियान का समापन जयराम ठाकुर 24 अप्रैल को राष्ट्रीय पंचायत दिवस के मौके पर मंडी में करेंगे.

कॉमेंट करें

अपनी टिप्पणी यहाँ लिखें
अपना नाम यहाँ लिखें