हरियाणा ने देश ही नहीं विदेशों में भी बनाई पहचान : मनोहर लाल

हरियाणा ने देश ही नहीं विदेशों में भी बनाई पहचान : मनोहर लाल
फाइल फोटो

चंडीगढ़. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अहमदाबाद में हरियाणा मैत्री संघ द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए कहा कि हरियाणा प्रदेश के लोगों ने जिस तरह से अपनी मेहनत के बल पर दूसरे प्रदेशों में आकर अपनी लगन व ईमानदारी से यहां पर उद्योग, व्यापार जगत में अपने आप को स्थापित किया है, इससे प्रदेश की साख बढ़ती है और दूसरे लोगों को भी बल मिलता है.

मुख्यमंत्री का बीते शनिवार देर शाम अहमदाबाद में आयोजित हरियाणा मैत्री संघ के कार्यक्रम में पहुंचने पर जोरदार स्वागत हुआ. स्वागत के दौरान महिलाओं ने ठेठ हरियाणवी अंदाज में मुख्यमंत्री के सम्मान में गीत भी गाए, जिससे मुख्यमंत्री ने उनका अभिवादन भी किया.

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि हरियाणवी उद्यमियों के बीच आकर उन्हें जो प्रसन्नता हो रही है, वे उसे शब्दों में व्यक्त नहीं कर सकते हैं. हरियाणवी शब्द जुबान पर आते ही ऐसे कर्मवीरों की तस्वीर उभर कर सामने आती है, जिन्होंने अपने आत्मविश्वास, कड़ी मेहनत और बलबूते के बल पर अपने भाग्य की रेखाएं बदली और न केवल हरियाणा प्रदेश में ही बल्कि भारत के कोने-कोने और विदेशों में भी अपनी पहचान बनाई है. उन्होंने कहा कि हरियाणा और गुजरात का तो पौराणिक संबंध है. हरियाणा में जहां धर्मक्षेत्र कुरुक्षेत्र में भगवान श्री कृष्ण ने कर्मयोग का दिव्य संदेश दिया था, वहीं उन्होंने द्वारका को अपनी कर्मस्थली बनाया.

ये भी पढ़ें- मुंबई की तर्ज पर रंग-बिरंगी होंगी स्मार्ट सिटी की स्लम बस्तियां

प्रदेश के बाहर अपनों के बीच आकर मन में आनंद आता है. प्रदेश में वर्ष 2014 में जब हमने सत्ता संभाली तब हमारे सामने सबसे बड़ी चुनौती व्यापार के लिए अनुकूल माहौल बनाने की थी कि किस तरह ज्यादा से ज्यादा राज्य की अर्थव्यवस्था में निजी भागीदारी को बढ़ावा मिले ताकि रोजगार के नए-नए अवसर प्रदान किए जा सकें. इसमें हमने निंरतर सुधार किया और पहले ही चरण में एंटरप्राईजिज पोलिसी 2015 को लागू किया गया.

इसका सकारात्मक परिणाम ये रहा कि आज हरियाणा प्रदेश इज ऑफ डूईंग के मामले में 14वें स्थान से तीसरे स्थान पर आ गया है. हरियाणा जैसा छोटा सा प्रदेश निर्यात के मामले में देश-भर में पांचवें स्थान पर है. ई-वे बिल में इसका चौथा स्थान है. जीएसटी संग्रहण में देश भर में हरियाणा का पांचवां स्थान है. शहरी क्षेत्रों में बुनियादी सुविधाओं को मजबूत बनाने के लिए हरियाणा प्रदेश 28वें स्थान से 10वें स्थान पर पहुंच गया है. निवेशकों के हितों की सुरक्षा के लिए प्रदेश के हर जिले में समाधान दिवस आयोजित किए जा रहे हैं. इनमें उद्योगपतियों के साथ सरकार का सीधा संवाद स्थापित किया जाता है. कार्यक्रम में पुष्पक सोसायटी, यादव सभा, जाट सभा, ब्राह्मण सभा, अग्रवाल सभा के प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को शाल व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया.