आज होगी राज्य चुनाव आयुक्त पी.मित्रा के वायस सैंपल पर सुनवाई

आज होगी राज्य चुनाव आयुक्त पी.मित्रा के वायस सैंपल पर सुनवाई - Panchayat Times
प्रतीक चित्र

शिमला. भू-राजस्व की धारा 118 के मामले में कथित लेन-देन के आरोपों से घिरे राज्य चुनाव आयुक्त और पूर्व मुख्य सचिव पी. मित्रा के वायस सैंपल लेने पर शुक्रवार को जिला एवं सत्र न्यायाधीश (वन) वीरेंद्र शर्मा की अदालत में सुनवाई होगी. अदालत में अर्जी देकर जांच एजेंसी ने पी.मित्रा के वायस सैंपल लेने की इजाजत मांगी है.

प्रदेश सरकार ने हाल ही में विजिलेंस को मित्रा के खिलाफ केस चलाने की अनुमति दी है. सरकार की अनुमति के बाद अब अदालत में जांच एजेंसी मजबूती से अपना पक्ष रखेगी. ऐसे में शुक्रवार को अदालत में होने वाली सुनवाई में संभावित फैसले पर सबकी निगाहें रहेगी.

हिमाचल के राज्य चुनाव आयुक्त पी. मित्रा से विजिलेंस की लंबी पूछताछ

याद रहे कि पी.मित्रा पर साल 2010-11 में धारा-118 की अनुमति देने के एवज में रिश्वत लेने का आरोप है. उस वक्त राज्य में भाजपा की सरकार थी और मित्रा राजस्व विभाग के प्रधान सचिव थे. इस मामले में दो कारोबारियों पर घूस लेने और अफसरों को देने का आरोप है. विजिलेंस ने इस मामले में मित्रा की भूमिका पर सवाल खड़े किए हैं. अवैध लेन-देन से जुड़ी मित्रा की फोन पर बातचीत के अंश भी विजिलेंस के हाथ लगे हैं और इनकी पुष्टि करने के लिए विजिलेंस मित्रा के आवाज के नमूने लेना चाह रही है.

खास बात यह है कि पूर्व कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में मित्रा राज्य के मुख्य सचिव भी रहे. विजिलेंस धारा-118 से जुड़े मामले में बीते सितम्बर माह में मित्रा से दो बार पूछताछ कर चुकी है. इसके साथ ही जांच एजेंसी ने सरकार से उनको आरोपी के तौर पर छानबीन में शामिल करने की अनुमति भी मांगी है. हालांकि इस पर अभी सरकार ने कोई निर्णय नहीं लिया है. मामले की गंभीरता को देखते हुए विधि विशेषज्ञों से भी विचार-विमर्श किया जा रहा है.