हिमाचल में गर्मी ने 15 साल का रिकाॅर्ड तोड़ा

हिमाचल में गर्मी ने 15 साल का रिकाॅर्ड तोड़ा-Panchayat Times
साभार इंटरनेट

शिमला. हिमाचल प्रदेश में जून के महीने में भीषण गर्मी पड़ रही है. मैदानी इलाकों में गर्मी कहर बनकर टूट रही है. सोमवार को पांच जिलों का पारा 40 डिग्री से अधिक दर्ज किया गया. ऊना राज्य में सबसे गर्म स्थल रहा, जहां अधिकतम तापमान 45.2 डिग्री रिकॉर्ड हुआ. ऊना में गर्मी ने जून महीने में पिछले 15 साल के रिकाॅर्ड की बराबरी कर दी. इससे पहले ऊना में 21 जून 2005 को 45.2 डिग्री तापमान रिकाॅर्ड हुआ था.

अहम बात यह है कि पहाड़ भी गर्मी की तपिश झेल रहे हैं. राजधानी शिमला का पारा इस साल पहली बार 30 डिग्री को छू गया. यहां तापमान 30.3 डिग्री रहा. ऐसे में यहां घूमने आने वाले सैलानियों को भी गर्मी के तीखे तेवरों से जूझना पड़ रहा है. जून महीने में इससे पहले साल 2014 में राजधानी में तापमान 31.4 डिग्री रिकाॅर्ड हुआ था. मौसम विभाग ने अगले दो दिन राज्य के अनेक क्षेत्रों में अंधड़ के साथ बारिश का अलर्ट जारी किया है. इससे गर्मी का प्रकोप काफी हद तक कम होगा.

हिमाचल में भीषण गर्मी का कहर, पारा 45 पार, पहाड़ भी तपे

सोमवार को पूरे प्रदेश में मौसम साफ बना रहा. मैदानों में गर्मी का भीषण प्रकोप देखने को मिला. बिलासपुर, कांगड़ा, सुंदरनगर और हमीरपुर में अधिकतम तापमान क्रमशः 42.6, 41, 41 और 42.1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.

इन हिस्सों में दिन निकलने के साथ ही तापमान में बढ़ोतरी होने से सड़कों पर आवाजाही कम हो गई है और लोग जरूरी कामों से ही बाहर निकलते देखे गए. आम लोगों को तपिश से रोजमर्रा का जीवन अस्त-व्यस्त तो हुआ ही है, लेकिन ठंडक और शीतल हवाओं का आनंद उठाने पहाड़ आने वाले सैलानी भी मायूस हुए हैं. सैलानियों को पहाड़ों पर तीखी गर्मी का सामना करना पड़ रहा है.

पहाड़ों की रानी शिमला से लेकर डलहौजी, सोलन और दूसरे पहाड़ी इलाके भी झुलस रहे हैं. शिमला में सीजन के सबसे गर्म दिन रहा, तो सोलन में भी पारा 37 डिग्री पहुंच गया. ठंड के लिए मशहूर पर्यटन स्थल डलहौजी में भी पारा 25 डिग्री पहुंच गया. इसके अलावा भुंतर में अधिकतम तापमान 38 2, चंबा में 39, कल्पा में 24.9 और केलंग में 23.2 डिग्री दर्ज किया गया.

मौसम विभाग का कहना है कि अगले 24 घंटों के दौरान मौसम में बदलाव आने से गर्मी का प्रकोप कुछ हद तक कम होगा. मौसम विभाग शिमला के निदेशक मनमोहन शर्मा ने कहा को 11 व 12 जून को मैदानी और मध्यवर्ती इलाकों में अंधड़ के साथ तेज बारिश की आशंका है और इसे लेकर अलर्ट जारी किया गया है. मैदानों में 13 और 14 जून को मौसम फिर साफ हो जाएगा. लेकिन शेष क्षेत्रों में बारिश का अनुमान है.