हिमाचल | बर्फबारी के चलते पांचवें दिन भी जनजीवन अस्त-व्यस्त, सड़क से लेकर बिजली और पानी की आपूर्ति तक में दिक्कत, गांवों में माइनस तापमान में मोमबत्ती जलाकर सर्द रातें काटने को मजबूर लोग

हिमाचल | बर्फबारी के चलते पांचवें दिन भी जनजीवन अस्त-व्यस्त, सड़क से लेकर बिजली और पानी की आपूर्ति तक में दिक्कत, गांवों में माइनस तापमान में मोमबत्ती जलाकर सर्द रातें काटने को मजबूर लोग - Panchayat Times

शिमला. हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश और बर्फबारी के चलते मंगलवार को पांचवें दिन भी जनजीवन अस्त-व्यस्त ही रहा. प्रदेश के चार नेशनल हाईवे समेत 495 सड़कें बंद रहीं. हजारों गांवों में बिजली-पानी की सप्लाई अभी भी बहाल नहीं हुई है.

खबरों के अनुसार प्रदेश में 974 बिजली ट्रांसफार्मर बंद होने से लोगों की समस्या और भी ज्यादा बढ़ गई हैं. बिजली आपूर्ति में आ रही परेशानियों के चलते हजारों गांवों में अंधेरा पसरा हुआ है. शिमला में सबसे अधिक 368 ट्रांसफार्मर ठप हो गए हैं.

बिजली गुल होने से लाहौल और कुल्लू के ग्रामीण क्षेत्रों में माइनस तापमान में मोमबत्ती जलाकर सर्द रातें काटने को लोग मजबूर हैं. मंडी में 269, कुल्लू में 123, चंबा में 164, सिरमौर में 18, लाहौल स्पीति में 17 और किन्नौर में 15 बिजली ट्रांसफार्मर ठप रहे.

राष्ट्रीय राजमार्ग जो अब भी हैं बंद

चार दिन बाद भी राष्ट्रीय राजमार्ग पांच शिमला-रामपुर बंद है. इसके अलावा आनी-कुल्लू, मनाली-केलांग, भरमौर-पठानकोट एनएच यातायात के लिए बंद रहे. प्रदेश में परिवहन निगम के 196 रूट प्रभावित चल रहे हैं. लाहौल-स्पीति जिले में सबसे अधिक 161 सड़कें बंद हैं.

177 पेयजल योजनाएं ठप

हिमाचल में भारी बर्फबारी के चलते 177 पेयजल योजनाएं ठप होने से कई जगह जल संकट गहरा गया है.

15 जनवरी तक प्रदेश में मौसम साफ रहने का पूर्वानुमान

हालांकि मंगलवार सुबह राजधानी शिमला में धूप खिली. दोपहर दो बजे के बाद शहर में शुरू हुई बारिश देर शाम तक जारी रही. बीच-बीच में बर्फ के फाहे भी गिरे. प्रदेश के अन्य क्षेत्रों में मौसम साफ बना रहा. मौसम विज्ञान केंद्र शिमला ने 15 जनवरी तक प्रदेश में मौसम साफ रहने का पूर्वानुमान जताया है.

मंगलवार दोपहर को चंबा-गागला मार्ग पर पहाड़ी दरक गई.  शिमला जिले के चौपाल क्षेत्र के बिजली बोर्ड की 30 सदस्यीय टीम ने चार फीट बर्फ में 14 घंटे पैदल चलकर माइनस डिग्री तापमान में देहा से जिगनीपुल तक मुख्य बिजली लाइन से आपूर्ति बहाल की है. सीएम जयराम ठाकुर ने इस टीम का वीडियो भी ट्विटर के जरिये शेयर किया है. जिस क्षेत्र में आपूर्ति शुरू की है, वहां अभी तक सड़क मार्ग भी बहाल नहीं हो पाए हैं.

क्षेत्र                    न्यूनतम तापमान (डिग्री सेल्सियस में)

केलांग                – 15.4

कल्पा                 – 8.0

मनाली                – 3.8

कुफरी                – 3.0

डलहौजी            – 1.2

भुंतर                 – 0.1

सोलन                0.8

शिमला                2.2

धर्मशाला            4.2