हिमाचल के ऊंचे क्षेत्रों में भारी बर्फबारी,येलो अलर्ट जारी

हिमाचल के ऊंचे क्षेत्रों में भारी बर्फबारी,येलो अलर्ट जारी-Panchayat Times

शिमला. हिमाचल प्रदेश में मौसम विभाग का अनुमान सही साबित हुआ है. मौसम विभाग ने अलर्ट जारी करते हुए सोमवार को बारिश और बर्फबारी की संभावना जताई थी, जो बिल्कुल सही साबित हुई. हिमाचल के उच्च पर्वतीय इलाकों में जमकर बर्फबारी हो रही है. जनजातीय जिलों लाहौल-स्पीति, किन्नौर और चंबा के पांगी में भारी बर्फबारी हुई है. इससे ठंड बढ़ गई है और आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. कुल्लू, शिमला और सिरमौर जिलों की पर्वतीय श्रंखलाओं पर भी बर्फ गिर रही है. वहीं राजधानी शिमला में तूफान ने जनजीवन प्रभावित कर दिया.

सोमवार दोपहर से बिजली की कड़कड़ाहट के साथ बारिश और तेज हवा ने राजधानी की रफ्तार रोक दी. आलम यह है कि यहां घूमने आए पर्यटकों को तूफान से बचने के लिए होटलों में ही दुबककर रहना पड़ा. बर्फीली हवा के चलते माॅल रोड व रिज मैदान पर चहल-कदमी बहुत कम रही. खराब मौसम का दौर अगले तीन-चार दिन रहेगा. मौसम विभाग ने 16 जनवरी को भारी बर्फबारी और बारिश की चेतावनी जारी की गई है.

मौसम विभाग द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक बीते 24 घंटों के दौरान लाहौल-स्पीति के केलंग में सर्वाधिक 45 सेमी., किन्नौर के कल्पा में 15 व पूह में 5 सेमी. बर्फबारी दर्ज की गई है. पर्यटन स्थल मनाली में दो सेंटीमीटर बर्फ गिरी है. मनाली में ताजा हिमपात का यहां घूमने आए सैलानियों ने भरपूर आनंद लिया. 

उधर, लाहौल-स्पीति और किन्नौर में सामान्य जनजीवन प्रभावित है. दोनों जनजातीय जिलों में अधिकतर संपर्क मार्गों के ठप पड़ने से परिवहन व्यवस्था चरमरा गई है. कई क्षेत्रों में बिजली और दूरसंचार व्यवस्था भी प्रभावित है. ठंड बढ़ने से लोग घरों में ही कैद हैं. यही हाल राजधानी शिमला का है. सुबह यहां बादलों ने डेरा जमाया रखा. दोपहर के समय यहां मौसम ने एकाएक करवट ली और बर्फीली हवाओं के साथ बारिश का दौर शुरू हो गया. राज्य के कई क्षेत्रों में गरज के साथ वर्षा हुई. भावानगर में 25, भरमौर में 15, कोठी में 8, डल्हौजी में 4 व बंजार में 3 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई.
मौसम में आए इस बदलाव से ठंड का प्रकोप बढ़ गया है. शिमला का दिन का तापमान 3 डिग्री लुढ़ककर 11 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है. लाहौल-स्पीति का केलंग राज्य का यह सबसे ठंडा स्थल रहा. यहां सोमवार को न्यूनतम तापमान -6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.इसके अलावा कल्पा में न्यूनतम तापमान -3.3, मनाली में -0.8, डलहौजी में 4.2, धर्मशाला में 4.8, कुफरी में 5, भुंतर में 7.1, सोलन में 7.4 और शिमला में 7.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि राज्य में पश्चिम विक्षोभ सक्रिय होने से 18 जनवरी तक पूरे प्रदेश में बारिश और बर्फबारी की संभावना है. उन्होंने 16 जनवरी को पहाड़ी इलाकों में भारी बर्फबारी और मैदानों में भारी बारिश-ओलावृष्टि की चेतावनी दी है.