हिमाचल प्रदेश में हुई भारी बर्फबारी, शिमला भी हुआ सफेद

हिमाचल प्रदेश में हुई भारी बर्फबारी, शिमला भी हुआ सफेद-Panchayat Times

शिमला. हिमाचल प्रदेश में पिछले दो दिन से लगातार बर्फबारी हो रही है. पहाड़ी इलाकों में व्यापक बर्फबारी के कारण अनेक सड़कों के अवरुद्ध होने से परिवहन व्यवस्था चरमरा गई है. बुधवार तड़के भारी बर्फबारी से राजधानी शिमला भी बर्फ की मोटी सफेद चादर से लिपट गई है. सैलानी बर्फबारी का आनंद उठा रहे हैं. बर्फबारी से कई स्थानों पर सैलानियों के वाहन फंस गए हैं.

इस बर्फबारी से राजधानी की भीतरी सड़कों पर वाहनों की आवाजाही पर असर पड़ा है. हालांकि बिलासपुर-शिमला और कालका-शिमला नेशनल हाईवे सहित मुख्य सड़कों पर यातायात सुचारू है. सड़कों से बर्फ हटाने के लिए प्रशासन ने मशीनरी तैनात कर दी है. कुफरी, नारकंडा और खड़ापत्थर में बर्फबारी की वजह से ऊपरी शिमला का संपर्क पिछले दो दिनों से राजधानी से कटा हुआ है.

ठियोग और कुफरी से जरूरी काम निपटाने के लिए लोगों को पैदल शिमला पहुंचना पड़ रहा है. कुफरी में बर्फबारी में बसों में फंसे सैलानियों और यात्रियों के रेस्क्यू के लिए पुलिस पसीना बहा रही है. अब तक करीब 100 लोगों को सुरक्षित निकाला गया है.

मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि शिमला शहर में 10 सेंटीमीटर ताजा हिमपात हुआ है. कुफरी में 45 सेंटीमीटर बर्फ गिरी है. किन्नौर के कल्पा में 26, चंबा के डलहौजी में 16, लाहौल-स्पीति के केलंग में 10 और कुल्लू के विख्यात पर्यटन स्थल मनाली में 8 सेंटीमीटर बर्फ रिकॉर्ड की गई है.

जिला उपायुक्त अमित कश्यप के मुताबिक बर्फबारी की वजह से कहीं से भी कोई अप्रिय घटना या किसी बड़े नुकसान की सूचना नहीं है. अप्पर शिमला की सभी सड़कें अवरुद्ध हैं, लेकिन शिमला शहर की अधिकांश मुख्य सड़कों को बहाल कर दिया गया है.उन्होंने खराब मौसम के मद्देनजर लोगों और पर्यटकों को ऊंचाई वाले इलाकों की तरफ यात्रा न करने की हिदायत दी है.

उल्लेखनीय है कि इस विंटर सीजन में शिमला में सातवीं बार हिमपात हुआ है. जनवरी में लोगों और सैलानियों ने शिमला में सबसे ज्यादा ठंड और बर्फ देखी है. मौसम विभाग अपने पूर्वानुमान में शिमला सहित पर्वतीय क्षेत्रों में अगले दो दिन तक बर्फबारी की संभावना जता चुका है.