मनाली से रोहतांग के लिए शुरू होगी हेली टैक्सी सेवा : जय राम ठाकुर

मंडी. मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य में पर्यटन क्षेत्र को अधोसंरचना और अन्य सुविधाओं से सुदृढ़ करने को नई दिशा प्रदान करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है. उन्होंने कहा कि पर्यटन की दृष्टि से अनछुए स्थलों को विकसित कर पर्यटकों को आकर्षित करने के प्रयास किए जा रहे हैं. जिससे न केवल राज्य के राजस्व में वृद्धि होगी बल्कि इससे युवाओं को स्वरोजगार के पर्याप्त अवसर भी उपलबध होंगे.

मुख्यमंत्री शनिवार को मंडी जिला के सराज विधानसभा क्षेत्र के बालीचौकी में उद्योग विभाग ने आयोजित हिम रेशम उत्सव के अवसर पर जनसभा को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि शिमला तथा चंडीगढ़ के बीच हेली टैक्सी सेवा आरंभ कर दी गई है. शीघ्र ही पर्यटकों की सुविधा के लिए मनाली से रोहतांग को हैली टैक्सी सेवा आरम्भ की जाएगी. इसी प्रकार पर्यटकों की सुविधा के लिए इस तरह की सेवा धर्मशाला से चंबा, डलाहौजी और मनाली से चंडीगढ़ के लिए भी आरंभ करने के प्रयास किए जाएंगे.

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने मंडी जिला के दूरदराज क्षेत्र में रेशम उद्यमिता विकास एवं नवोन्मेषण केंद्र खोला है. ताकि लोगों को रेशम उद्योग से जुड़कर स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध हो सके. इस केंद्र से विशेषकर महिलाएं यहां से प्रशिक्षण प्राप्त कर लाभान्वित होगी और वह अपने परिवार की आय बढ़ाने में अपना योगदान दे पाएगी. जय राम ठाकुर ने कहा कि सिल्क समग्र परियोजना आरंभ की गई है.

इस योजना के अंतर्गत इस वित्त वर्ष किसानों को लाभान्वित करने के लिए 50 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है. उन्होंने कहा कि बालीचौकी क्षेत्र के लोगों के लिए 50 करोड़ रुपए की लागत की पेयजल आपूर्ति योजना का कार्य आरंभ कर दिया जाएगा. जिससे क्षेत्र के 190 गांव के लगभग 17000 लोग लाभान्वित होंगे. इससे पूर्व उन्होंने 5.18 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित होने वाली भूराह-पंजैणघाट सड़क का भूमि पूजन किया. उन्होंने बालीचौकी में 6 करोड़ रुपए की अनुमानित राशि से निर्मित होने वाले सैडिक भवन और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बालीचौकी के भी शिलान्यास किए.

उन्होंने उद्योग विभाग ने आयोजित प्रदर्शनी का भी लोकार्पण किया. इस अवसर पर उद्योग मंत्री विक्रम सिंह ठाकुर ने कहा कि सैडिक स्वरोजगार के अवसर प्रदान करने में वरदान साबित होगा. उन्होंने कहा कि सरकार रेशम पालन पर उपदान प्रदान कर रही है. रेशम पालन विभाग इस व्यवसाय में काम कर रहे लोगों को सुविधा प्रदान करने के लिए उनके उत्पाद खरीद रहा है. सांसद राम स्वरूप शर्मा और विधायक सुरेन्द्र शौरी ने भी इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त किए.