हिमाचल को मिलेगा कृषि कर्मण्य पुरस्कार

हिमाचल को मिलेगा कृषि कर्मण्य पुरस्कार

शिमला/नई दिल्ली. हिमाचल प्रदेश कृषि विभाग के लिए यह साल खुशियां लेकर आया है. हिमाचल कृषि विभाग को कुल खाद्यान्न उत्पादन श्रेणी-2 में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए भारत सरकार के कृषि मंत्रालय ने कृषि कर्मण्य पुरस्कार 2016-17 के लिए चयनित किया है. इस पुरस्कार समारोह में हिमाचल को कृषि के क्षेत्र में बेहतर कार्य करने पर प्रशस्ति पत्र और पुरस्कार राशि दी जाएगी. यह पुरस्कार फरवरी-मार्च 2019 में दिल्ली में आयोजित होने वाले कृषि उन्नति मेले में दिया जाएगा. भारत सरकार ने इस पुरस्कार के लिए कृषि मंत्री, प्रधान सचिव कृषि और कृषि निदेशक को न्योता दिया है.

गौर करने वाली बात है कि कृषि के क्षेत्र में हिमाचल को मिलने वाले इस पुरस्कार की जानकारी केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधा मोहन सिंह ने डा. रामलाल मार्कंडेय कृषि मंत्री को पत्र के माध्यम से दी है. कृषि विभाग के निदेशक डा. देसराज ने कहा कि छह साल में कुल खाद्यान्न उत्पादन 14.94 लाख टन से 15.63 लाख टन हो गया है. इसके अलावा विभाग ने पॉलीहाउस, खेती, फसल विविधिकरण, सूक्ष्म सिंचाई और मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन को बढ़ावा देने के लिए भी सराहनीय कार्य किया है.

कृषि कर्मण्य पुरस्कार वर्ष 2010-11 से कृषि मंत्रालय द्वारा धान, गेहूं, मोटे अनाज, दालों, और कुल खाद्यान्न के उत्पादन में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले राज्यों को पुरस्कृत करने के लिए शुरू किया गया है. इससे पहले भी हिमाचल कृषि विभाग को गेहूं की उत्पादकता बढ़ाने पर 2011-12 में और खाद्यान्न उत्पादन में सराहनीय बढ़ोतरी के लिए वर्ष 2014-15 व वर्ष 2015-16 में कृषि कर्मण्य पुरस्कार प्राप्त हो चुका है.