हिमाचल सरकार चलाएगी जेएनयूआरएम की 100 खड़ी हुई बसें

हिमाचल सरकार चलाएगी जेएनयूआरएम की 100 खड़ी हुई बसें-Panchayat Times

शिमला. प्रदेश की भाजपा सरकार जेएनयूआरएम यानी जवाहर लाल नेहरू शहरी नवीकरण मिशन के तहत खरीदी गई 100 बसों को चलाएगी. ये बसें वर्षों से खड़ी हैं. राज्य सरकार ने पहले चरण में 100 बसों को चलाने का निर्णय लिया गया है. इन बसों को शहरों में ही चलाया जाएगा.

बताया गया कि इन बसों को ग्रामीण क्षेत्रों में नहीं चलाया जाएगा. हालांकि, रामपुर क्षेत्र में कुछ बसें कुमारसैन और कोटगढ़ के लिए चलाई गई हैं. सरकार ने चालकों और परिचालकों की कमी को पूरा करने के लिए एचआरटीसी में 425 चालकों एवं परिचालकों के पदों को भरने के लिए प्रस्ताव तैयार किया है. इनमें 225 चालक और 200 परिचालकों के पद भरे जाने हैं. प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में पिछले तीन वर्षों से 325 के करीब बसें खड़ी हैं. पूर्व सरकार ने इन बसों को चलाने के लिए नियमों के विपरीत रूट परमिट भी दिए थे, लेकिन बाद में मामला कोर्ट में चला गया और अधिकांश बसें खड़ी रह गई.

प्रदेश की वर्तमान सरकार ने जनहित में सौ बसें चलाने का निर्णय किया है. यहां बता दें कि जेएनयूआरएम के तहत खरीदी गई ये बसें सबसे अधिक हमीरपुर में खड़ी हैं. पूर्व परिवहन मंत्री जीएस बाली के कार्यकाल में सैंकडों बसें खरीदी गई, जिसमें से अभी तक शिमला और धर्मशाला में ही चलाई चलाई गई.

परिवहन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने मंगलवार को बताया कि जेएनयूआरएम के तहत पिछले कई वर्षों से खड़ी बसों को चलाने का निर्णय किया गया है. पहले चरण में 325 में से 100 बसें चलाएंगे. पूर्व सरकार की लापरवाही के कारण आज ये बसें खड़ी हैं.