हिमाचल प्रदेश : कोरोना वायरस के चलते पंचायत चुनाव में तैनात होंगे स्वास्थ कर्मी

हिमाचल प्रदेश : पंचायत चुनाव को लेकर 11 जिलों की 2585 पंचायतों से आए 1,22,400 दावे
Image Source - Internet

शिमला. कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के चलते हिमाचल प्रदेश पंचायती चुनाव में मतदाताओ की सुरक्षा हेतु हिमाचल चुनाव आयोग द्वारा कुछ अहम कदम उठाए जाएंगे. हिमाचल चुनाव आयोग को पंचायतीराज संस्थाओं के चुनाव स्वतंत्र और सुरक्षित रूप से करवाने के लिए चुनाव ड्यूटी के लिए 56 हजार कर्मचारियों की जरूरत हैं.

कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए चुनाव आयोग पहली बार मतदान केंद्रों में स्वास्थ्य कर्मचारियों की तैनाती करेगा. आयोग को पंचायत चुनाव करवाने के लिए इस बार एक मतदान केंद्र में आठ कर्मचारियों की चुनाव ड्यूटी लगानी पड़ेगी.

प्रत्येक मतदान केंद्र में सुरक्षा के लिए एक पुलिस कर्मी और एक होमगार्ड तैनात रहेगा. आपको बता दे कि पिछले पंचायतीराज संस्थाओं के चुनाव में करीब 32 हजार कर्मचारियों की चुनाव ड्यूटी लगाई गई थी, जबकि पिछली बार 3226 पंचायतों के चुनाव कराए गए थे. इस बार प्रदेश में 405 नई पंचायतों का गठन किया जा रहा है.

कोरोना संक्रमण को देखते हुए मतदान केंद्रों में चुनाव ड्यूटी के लिए अधिक संख्या में कर्मचारियों की तैनाती की जानी है. राज्य चुनाव आयोग के चुनाव अधिकारी संजीव महाजन ने कहा कि पंचायतीराज संस्थाओं के चुनाव में करीब 56 हजार कर्मचारियों की जरूरत पड़ेगी. इस बार कोरोना को देखते हुए कम से कम एक स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों की तैनाती भी की जानी है.

यह चुनाव 2010 – 11 की जनगणना के आधार पर किये जाएंगे हालाकि हिमाचल चुनाव आयोग द्वारा चुनाव की तारीखों का ऐलान नहीं किया गया है, लेकिन नवम्बर – दिसम्बर के महीने में चुनाव आयोजित होने की सम्भावना है.