हिमाचल प्रदेश के पर्वतीय इलाकों में 18 फरवरी को हो सकती है बारिश

हिमाचल प्रदेश के पर्वतीय इलाकों में 18 फरवरी को हो सकती है बारिश-Panchayat Times
प्रतीक चित्र

शिमला. हिमाचल प्रदेश में रात का पारा दो से तीन डिग्री तक बढ़ने पर हाथ-कंपाने वाली सर्दी से राहत मिली है. मौसम विभाग के अनुसार अगले चौबीस घंटे प्रदेशवासियों को सर्दी के तीखे तेवरों से राहत मिलेगी. पर्वतीय इलाकों में 18 फरवरी से फिर से रात के तापमान में गिरावट होने का अंदेशा है, जिसके चलते ठंड का असर बढ़ जाएगा.

मौसम विभाग कि ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक जनजातीय जिला लाहौल-स्पीति को छोड़कर अन्य सभी 11 जिलों में न्यूनतम तापमान शून्य से ऊपर दर्ज किया गया. लाहौल-स्पीति के मुख्यालय केलंग में न्यूनतम तापमान -8.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ.


भारी उछाल आने से शिमला का न्यूनतम तापमान 8.4 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया.आलम यह है कि शिमला की रातें सोलन और सुंदरनगर से भी गर्म हो गई हैं. सोलन और सुंदरनगर में न्यूनतम तापमान क्रमशः 5 और 6.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.पर्यटन स्थलों मनाली और कुफरी सहित कल्पा में कई दिनों तक माइनस में चल रहे तापमान में भी एकदम बढ़ोतरी हुई है. मनाली में तापमान 1.4, कुफरी में 7.2 और कल्पा में शून्य डिग्री सेल्सियस पहुंच गया.


राज्य के अन्य प्रमुख शहरों की बात करें तो सियोबाग में न्यूनतम तापमान 3.6, भुंतर में 4.2, पालमपुर में 6, चंबा व डलहौजी में 6.8, धर्मशाला में 7.2, चायल में 7.9, जुब्बड़हट्टी में 8.3,  कांगड़ा में 8.4, मंडी में 9, बिलासपुर में 9.5, हमीरपुर में 9.6, ऊना में 10, पांवटा साहिब में 12 और नाहन में 13.9 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.

मौसम विज्ञान केंद्र शिमला के निदेशक मनमोहन सिंह का कहना है कि राज्य के मैदानी इलाकों में हफ्ता भर मौसम साफ बना रहेगा. जबकि पर्वतीय क्षेत्रों में 18, 19 व 20 फरवरी को वर्षा व हिमपात की संभावना है.