हिमाचली जेपी नड्डा बने भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष

हिमाचली जेपी नड्डा बने भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष-Panchayat Times
साभार ट्विटर

नई दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी की दिल्ली में संसदीय बोर्ड की बैठक में एक बड़ा फैसला हुआ. जिसमें जेपी नड्डा को बीजेपी का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया है. नड्डा दिसंबर तक इस पद पर बने रहेंगे. इस बैठक में शामिल होने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी, अमित शाह, नितिन गडकरी, सुषमा स्वराज, जेपी नड्डा, थावरचंद गहलोत समेत बोर्ड के अन्य सदस्य पहुंचे थे.

जगत प्रकाश नड्डा केन्द्र में स्वास्थ्य मंत्री के साथ केन्द्रीय संसदीय बोर्ड के सचिव भी थे. वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले प्रदेश के मुख्य चुनाव प्रभारी बनाए गए. श्री नड्डा के रणनीतिक कौशल के सहारे भाजपा ने सपा-बसपा गठबंधन के बावजूद 64 सीटें पाईं. इस जीत के नायक बने नड्डा को अब पार्टी का कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया है.

जेपी नड्डा को बीजेपी का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया-Panchayat Times
साभार ट्विटर

इस दिन जेपी नड्डा ने राजनिति में रखा था कदम

जगत प्रकाश नड्डा ने बिहार के पटना में 1960 में जन्म लिया था. हिमाचल प्रदेश के रहने वाले ब्रह्माण परिवार से ताल्लुक रखने वाले जेपी नड्डा बीए की परीक्षा पटना विश्वविद्यालय से पास की. वह मौजूदा समय में राज्य सभा के सदस्य हैं. नड्डा पिछली मोदी सरकार में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री थे. छात्रजीवन से ही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) से जुड़े हुए हैं. 1983-84 में नड्डा हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में एबीवीपी के अध्यक्ष बने. इसके बाद एबीवीपी के दिल्ली में संगठन मंत्री भी रहे.

जेपी नड्डा को बीजेपी का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया-Panchayat Times
साभार ट्विटर

हिमाचल प्रदेश भाजपा के प्रदेश महामंत्री रहे. 1991 से 93 तक भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे. 1993 में हिमाचल प्रदेश से विधायक चुने गए. 1998 में दोबारा विधायक चुने जाने के बाद उन्हें उन्हें हिमाचल सरकार में स्वास्थ्य एवं संसदीय मामलों का मंत्री नियुक्त किया गया. 2007 में प्रेम कुमार धूमल की सरकार में भी कैबिनेट मंत्री बने. 2010 में हिमांचल सरकार से इस्तीफा देकर भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री बने.  नड्डा जम्मू-कश्मीर, तेलंगाना, पंजाब, हरियाणा, छत्तीसगढ़, केरल,राजस्थान, व महाराष्ट्र समेत कई अन्य राज्यों के प्रभारी रहे. नितिन गडकरी व राजनाथ सिंह के अध्यक्षी कार्यकाल में राष्ट्रीय महामंत्री रहे. 2012 में राज्यसभा के सदस्य चुने गए. 2014 में भाजपा केन्द्रीय संसदीय बोर्ड के सचिव नियुक्त हुए. 2019 में लोकसभा चुनाव में नड्डा को सबसे महत्वपूर्ण राज्य यूपी का चुनाव प्रभारी बनाया गया.