ऊना जिले में मरीजों के लिए जीवन रक्षक बनी हिमकेयर योजना, इतने लोगों को हुआ निशुक्ल इलाज

ऊना जिले में मरीजों के लिए जीवन रक्षक बनी हिमकेयर योजना, इतने लोगों को हुआ निशुक्ल इलाज-Panchayat Times
साभार इंटरनेट

शिमला. शिमला प्रदेश सरकार की हिमकेयर योजना के अंतर्गत जिला में 27,726 परिवार पंजीकृत किए गए हैं और इस योजना के माध्यम से जिला ऊना में अब तक 2574 मरीजों का निशुल्क इलाज किया गया है.
 प्रदेश सरकार ने इन मरीजों के इलाज पर लगभग 1.22 करोड़ रुपए की धनराशि खर्च की. इस योजना के माध्यम से हिमाचल प्रदेश सरकार 5 सदस्यों वाले परिवार को 5 लाख रुपए तक स्वास्थ्य बीमा प्रदान कर रही है. अस्पताल में भर्ती होने पर 5 लाख रुपए तक के इलाज का खर्च प्रदेश सरकार वहन करती है. 

स्कीम में 1800 उपचार प्रक्रियाएं कवर की जा रही हैं और इसमें डे केयर सर्जरी भी शामिल हैं. रोगी को अस्पताल में भर्ती होने पर कैशलैस सेवा मिलती है. ऐसे करें हिमकेयर में आवेदन बीपीएल परिवारों के लिए इस योजना में कोई भी प्रीमियम नहीं रखा गया है. 40 प्रतिशत तक दिव्यांग, 70 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्ग, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व सहायिकाएं, अनुबंध कर्मचारी, मिड डे मील वर्कर, आशा कार्यकर्ता, अंशकालिक कार्यकर्ताओं और दिहाड़ीदारों को 365 रुपए सालाना प्रीमियम अदा करना होता है. 

 पीजीआई चंडीगढ़ में भी मान्य हिमकेयर कार्ड
 

हिमकेयर कार्ड पीजीआई चंडीगढ़ में भी मान्य है. कोई भी समस्या होने पर पीजीआई के एक्सटेंशन ब्लॉक में नियुक्त नरेंद्र कुमार से संपर्क किया जा सकता है या उनके मोबाइल नंबर 76967-59990 पर भी बात की जा सकती है.

 31 मार्च करें हिमकेयर में आवेदन 

 इस योजना के बारे में मुख्य चिकित्सा अधिकारी ऊना डॉ. रमण कुमार शर्मा ने बताया कि प्रदेश में जो व्यक्ति पहले चरण में हिमकेयर योजना के तहत कार्ड नहीं बनवा पाए थे वह दोबारा से अपना पंजीकरण करवा सकते है. पंजीकरण की यह प्रक्रिया 31 मार्च तक जारी रहेगी. इसके अतिरिक्त जिन परिवारों ने हिमकेयर में 1 जनवरी, 2019 के बाद पंजीकरण करवाया है, वह पॉलिसी अवधि पूरी होने पर अपने कार्ड का नवीनीकरण करवा सकते हैं.