भारी जन समर्थन के साथ झारखंड में भाजपा आज अजेय है: राजेश शुक्ल

भारी जन समर्थन से झारखंड में भाजपा आज अजेय है:राजेश शुक्ल-Panchayat Times

रांची. भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राजेश कुमार शुक्ल ने कहा है कि झारखंड में भाजपा की नीतियों और राज्य सरकार की शानदार उपलब्धियों के चलते भाजपा को पूरे राज्य में भारी जन समर्थन मिल रहा है तथा राज्य की जनता के भारी समर्थन के चलते ही झारखंड में भाजपा आज अजेय बनती जा रही है.

राजेश शुक्ल ने कहा है कि झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास के कुशल नेतृत्व में राज्य सरकार झारखंड के सम्पूर्ण विकास की दिशा में निरंतर कार्य कर रही है. राज्य की विकास की चर्चा आज देश और विदेश में है. झारखंड की रघुवर सरकार ने अपनी भ्रष्टाचार मुक्त ,बेदाग छवि बनाई है. झारखंड पहले एक समृद्ध राज्य तो था, लेकिन राज्य के निवासी गरीब थे, लेकिन राज्य की भाजपा की रघुवर सरकार के आने के बाद से राज्य के साथ राज्य के लोंग भी गरीबी रेखा से बाहर आए है, अनेक योजनाओं के माध्यम से राज्य की भाजपा सरकार झारखंड के गरीब लोगों को गरीबी रेखा से ऊपर उठाने का काम तेजी से कर रही है. उसमे भारी सफलता भी मिला है.

शुक्ल ने कहा है कि आज झारखंड में जो विकास हुआ है उसके कारण देश मे गुजरात के बाद झारखंड की गिनती हो रही है. झारखंड में 10 बर्ष पूर्व इसकी कल्पना नही की जा सकती थी कि विकास की इस प्रतिस्पर्धा में यह राज्य इतना आगे निकल जायेगा. लेकिन श्री रघुवर दास की सरकार ने पौने पांच बर्ष में इसे पूरा करके दिखाया है. इसका सबसे बड़ा कारण रहा राजनीतिक स्थिरता के साथ झारखंड का विकास जो बेजोड़ और बेमिसाल है. केंद्र की नरेंद्र मोदी की एनडीए 1 और एनडीए 2 की सरकार और झारखंड में रघुवर दास की पौने पांच वर्ष की सरकार पर विपक्ष भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नही लगा सका. यह बड़ी उपलब्धि है.

भाजपा की राज्य सरकार झारखंड में समरस समाज का निर्माण कर एक शक्तिशाली और विकसित समरसता युक्त राज्य बनाना चाहती है. आज झारखंड सरकार कि कुशल और सफल कृषि नीति के चलते किसानों के जीवन मे सकारात्मक बदलाव भी आया है. गांव और शहर दोनों का तेजी से विकास हुआ है तथा झारखंड की जनता का भारी समर्थन भाजपा के विकास रथ के साथ है तथा मुख्यमंत्री कि जोहार जन आशीर्वाद यात्रा में भी जनता मुख्यमंत्री रघुवर दास को समर्थन और आशीर्वाद देने भारी संख्या में स्वतःस्फूर्त पहुँच रही है. जिससे झारखंड में विपक्षी दलों के होश उड़ गए हैं.