जल, जंगल और जमीन की रक्षा के लिए संथाल के आदिवासियों ने की हुल विद्रोह क्रांति : झारखंड कांग्रेस

जल, जंगल और जमीन की रक्षा के लिए संथाल के आदिवासियों ने की हुल विद्रोह क्रांति : झारखंड कांग्रेस - Panchayat Times
Jharkhand Congress' leader in Hul day

रांची. अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ उलगुलान के आगाज की शुरुआत और  संघर्ष के प्रतीक संथाल हूल दिवस के मौके पर मंगलवार को प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से राजधानी रांची के सिद्धो कान्हू पार्क में सिद्धू कान्हू को श्रद्धांजलि दी गई. साथ ही पार्क स्थित सिद्धू कान्हू की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर व दीप जलाकर चांद भैरो, झूलो झानो को भी श्रद्धांजलि दी गई.

बन्ना गुप्ता, आलमगीर आलम और रामेश्वर उरांव ने सिद्धू कान्हू पार्क में सिद्धू कान्हू को याद कर दी श्रद्धांजलि

राज्य के मंत्री बन्ना गुप्ता, आलमगीर आलम और रामेश्वर उरांव ने सिद्धू कान्हू पार्क में सिद्धू कान्हू को याद कर श्रद्धांजलि दी. स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि देश में स्वतंत्रता की लड़ाई भले ही इतिहासकार के अनुसार सन 1857 में हुई हो लेकिन झारखंड के वीरों ने वर्ष 1855 में ही सिद्धू कान्हू और फूलों झानो ने शुरुआत कर दी थी.

मंत्री बन्ना गुप्ता ने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि 1857 की लड़ाई को इतिहास में बड़े पैमाने पर याद किया जाता है लेकिन 1855 में झारखंड की हूल क्रांति को कहीं न कहीं इतिहास में कम तवज्जो दी गई है.

भाजपा कर रही सिर्फ राजनीति

वहीं मंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि सिद्धू कान्हू के वंशज रमेश मुर्मू की हत्या की सीबीआई जांच कराने की मांग को लेकर भाजपा सिर्फ राजनीती कर रही है. आलम ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि सिद्धू कान्हू के परिजन के हत्यारे को सजा दिलाने के लिये राज्य सरकार सजग है और जो भी न्यायिक प्रक्रिया के तहत सही होगा उसको किया जायेगा.

वे जब सत्ता से बाहर हैं तो उन्हे संथाल परगना की याद आ रही है

इस अवसर पर वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने बाबूलाल मरांडी पर निशाना साधते हुए कहा कि आज वे जब सत्ता से बाहर हैं तो उन्हे संथाल परगना की याद आ रही है, लेकिन जब वो मुख्यमंत्री थे तो उन्हे कभी भी संथाल के लोगों के हित का काम नहीं किया.

हूल दिवस के मौके पर कांग्रेसी नेताओ ने भाजपा के मौन श्रद्धांजलि कार्यक्रम पर तंज कसते हुए कहा कि अगर विपक्ष सच में संथाल की भलाई और रामेश्वर मुर्मू के मौत की जांच चाहती है तो बेहतर सुझाव दें, न कि सरकार पर आरोप मढ़ राजनीति करने का काम करें.

इस मौके पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और मंत्री रामेश्वर उरांव, विधायक दल के नेता सह ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम, स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय, व विधायक नमन विक्सल कोंगाड़ी, राजेश कच्छप, दीपिका पाण्डेय सिंह, प्रदेश कांग्रेस कमिटी के कार्यकारी अध्यक्ष केशव महतो कमलेश आदि उपस्थित थे.