कुछ जगहों पर मारपीट को छोड़ दें तो शांतिपूर्ण रहा मतदान

विधानसभा क्षेत्रों में ग्रामीण एवं पार्टी कार्यकर्ताओं में छिटपुट झड़प, मारपीट...

जयपुर. राजस्थान में 15वीं विधानसभा के लिए शुक्रवार को प्रदेश की 200 विधानसभा सीटों में से 199 सीटों पर सुबह आठ बजे से मतदान शुरू हुआ, जो शाम पांच बजे तक चला. कुछ विधानसभा क्षेत्रों में ग्रामीण एवं पार्टी कार्यकर्ताओं में छिटपुट झड़प, मारपीट और आपसी तनाव की घटनाओं को छोड़कर प्रदेश में शांतिपूर्ण मतदान जारी है. सीकर के फतेहपुर के चमड़िया कॉलेज बूथ पर दो गुटों में झगडे़ के बाद तनाव हो गया. कार्यकर्ताओं ने टायरों में आग लगा दी. हाथापाई एवं मारपीट के बाद पुलिस ने मोर्चा संभाला और भीड़ को तितर-बितर किया.

टोंक के मालपुरा में हाथकी गांव के बूथ संख्या 82 पर दो प्रत्याशियों के समर्थकों में मतदान केंद्र पर प्रचार को लेकर हुआ विवाद हो गया. मतदान केन्द्र के बाहर 10 मिनट हंगामा चला. आपसी समझाइश के बाद समर्थक शांत हुए. बीकानेर की लूणकरणसर विधानसभा क्षेत्र में के मालासर गांव में भी कांग्रेस-भाजपा के कार्यकर्ता के आमने-सामने होने से तनाव की स्थिति बनी हुई है. क्षेत्र में पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी पहुंचकर समझाइश कर रहे है.

ये भी पढ़ें- पायलट, गहलोत या वसुन्धरा, जनता का फैसला ईवीएम में बंद

जयपुर के जमवारामगढ़ में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी प्रत्याशी की कार पर हमले की सूचना मिली है. गदली की ढाणी नर्सरी से रामपुरा के बीच हुई इस घटना में बाइक सवार तीन नकाबपोश युवकों ने प्रत्याशी लीलाधर मीणा पर हमला किया. हमले में मीणा बाल बाल बचे. टोंक के चौथ का बरवाड़ा में राजमाना बूथ नंबर 52 में बीजेपी और कांग्रेस के बूथ एजेंट भिंड़ गए, जिससे कांग्रेस का एक एजेंट घायल हो गया. बाद में बूथ के बाहर पुलिस ने मोर्चा संभाला. बूंदी के नैनवां में फर्जी मतदान को लेकर रेठोदा बूथ पर नोंकझोक हुई. सूचना पर करवर थाना अधिकारी मौके पर पहुंचे. आपसी समझाइश के बाद मामला शांत हुआ.

झुंझुनूं के चिड़ावा में दो बूथों पर तनाव की जानकारी मिली. टीबड़ा गेस्ट हाउस में कांग्रेस और बीजेपी समर्थकों में हल्की हाथापाई के बाद तनाव हो गया. ड़ूकिया स्कूल के बूथ पर पूर्व पार्षद ने भाजपा समर्थकों को पीट दिया. बाद में पुलिस ने मौके पर पहुंच कर मामला शांत कराया. सवाई माधोपुर के खंडार के रजवाना में बीजेपी और कांग्रेस के बूथ एजेंट आपस में भिड़ गए. अंता बांरा विधानसभा क्षेत्र के मांगरोल में मतदान केंद्र उदपुरिया में भाग संख्या 17 के बीएलओ मनीष मीणा को शराब के नशे में धुत होने और मतदान में व्यवधान डालने पर सहायक निर्वाचन अधिकारी ने सीसवाली पुलिस के हवाले किया.

भीलवाड़ा के मांडल विधानसभा क्षेत्र के बावड़ी बूथ पर पार्टी कार्यकर्ताओं के बूथों में अंदर पहुंच कर प्रचार करने की शिकायत पर पुलिस ने हल्का लाठीचार्ज किया. पुलिस फोर्स ने बूथों के नजदीकी खड़े वाहनों के टायरों से हवा निकाली और अतिरिक्त सुरक्षा टीम तैनात किया. चूरू के रतनगढ़ में फर्जी मतदान को लेकर दो गुटों में झगड़ा में तीन लोग घायल हो गए. खुडेरा छोटा के बूथ 92 हुई मारपीट में उगाराम, वीरेंद्र सिंह और चतर सिंह घायल हो गए. घायलों को रतनगढ़ चिकित्सालय पहुंचाया जहां भाजपा प्रत्याशी अभिनेश महर्षि ने घायलों की कुशलक्षेम पूछी.

विधानसभा क्षेत्रों में ग्रामीण एवं पार्टी कार्यकर्ताओं में छिटपुट झड़प, मारपीट...

जैसलमेर के फलसूण्ड़ के ग्राम पंचायत पदमपुरा में बूथ पर भाजपा और कांग्रेस के समर्थकों में विवाद के बाद माहौल गरमाया गया. मोहनगढ़ व सम से आये फर्जी कांग्रेस के मतदाताओं दोनों पार्टियों के कार्यकर्ता भिड़ गए. विवाद के चलते गाड़ियों के शीशे तोड़े दिए गए. पुलिस व आरएसी प्रशासन ने मौके पर पहुंच कर मामला शांत कराया. प्रतापगढ़ की छोटी सादड़ी के हड़मतिया गांव में चुनाव के दौरान भाजपा और कांग्रेस के एक दर्जन कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए. पुलिस ने बीच-बचाव कर मामला शांत कराया.

अजमेर के मसूदा के कानपुरा में बूथ संख्या 108 पर भाजपा-कांग्रेस कार्यकर्ताओं फर्जी मतदान को लेकर दो गुटों में झगड़ा, हो गया. झगड़ा के बाद कुछ देर मतदान रुक गया. अधिकारियों ने मौके पर पहुंच मतदान शुरु कराया. भरतपुर जिले के नदबई में आज सुबह दो मतदान केंद्रों 34 एवं 198 पर बूथ कैप्चरिंग की सूचना पर प्रशासन के हाथ पैर फूल गए. मतदान केन्द्र सैंडोली, ऊंचा का नगला में बसपा प्रत्याशी ने रिटर्निंग अधिकारी को बूथ कैप्चरिंग की सूचना की शिकायत की थी. जांच के बाद रिटर्निंग ऑफिसर नीरज कुमार ने घटना को झूठा करार देते हुए किसी भी बूथ पर कैप्चरिंग से इनकार कर दिया.