Atal ARIIA 2020 लिस्ट में आईआईटी मंडी सातवें स्थान पर

अटल रैंकिंग ऑफ इंस्टीट्यूशंस ऑन इनोवेशन एचीवमेंट्स में आईआईटी मंडी सातवें स्थान पर-Panchayat Times
साभार इंटरनेट

मंडी. अटल रैंकिंग ऑफ  इंस्टीट्यूशंस ऑन इनोवेशन एचीवमेंट्स में आईआईटी मंडी सातवें स्थान रहा है. इस बारे उपराष्ट्रपति एम.वेंकैया नायडू द्वारा रैंकिंग घोषित की गई है. केंद्रीय वित्त पोषित संस्थानों की एआरआईआईए रैंकिंग 2020 में दूसरी पीढ़ी के आईआईटी में केवल आईआईटी मंडी को एआरआईआईए 2020 में यह स्थान प्राप्त हुआ है. भारत के माननीय उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने एक वर्चुअल आयोजन में परिणामो की घोषणा की. इस अवसर पर भारत सरकार के शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और भारत सरकार के माननीय शिक्षा राज्य मंत्री संजय धोत्रे भी मौजूद थे.

आईआईटी मंडी के निदेशक प्रो. अजीत कुमार चतुर्वेदी ने कहा कि हमें अत्यंत प्रसन्नता है कि प्रैक्टिम आधारित सीखने की प्रक्रिया से बेहतर करिकुलम बनाने और उद्यमिता के ईकोसिस्टम पर जोर देने के अच्छे परिणाम मिले हैं. आईआईटी मंडी कैटलिस्ट, हिमाचल प्रदेश का पहला टेक्नोलॉजी बिजनेस इनक्युबेटर ने 2017 से अब तक 75 से अधिक स्टार्ट -अप की मदद की है. यह उद्योग जगत की रूपरेखा और उद्यमिता की मानसकिता दोनों दृष्टिकोणों से बदलाव ला रहा है. हमारा लक्ष्य तकनीक-आधारित स्टार्ट-अप को इनक्युबेट करना है जिनके अच्छे आर्थिक और सामाजिक परिणाम पर ध्यान केंद्रित हों. हम शिक्षा और उद्योग जगत के दिग्गजों के साथ मिल कर स्टार्ट-अप और शोध के लिए सहयोगी परिवेश बनाना चाहते हैं. एआरआईआईए 2020 ने एक बार फिर यह विश्वास दिलाया है कि आईआईटी मंडी सही दिशा में आगे बढ़ रहा है.

इस रैंकिंग में कुल 674 संस्थानों  ने भागीदारी की.इस साल छ कैैटेगरी में संस्थानों की रैंकिंग की गई। केंद्रीय वित्त पोषण प्राप्त संस्थान, निजी संस्थान, निजी विश्वविद्यालय/डीम्ड विश्वविद्यालय, राज्य सरकार से वित्त पोषित स्वायत्त संस्थान, राज्य सरकार से वित्त पोषित संस्थान और केवल महिलाओं के शिक्षा संस्थान.
एआरआईआईए भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय की पहल है और इसे अखिल भारतीय प्रौद्योगिकी शिक्षा परिषद और भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय के इनोवेशन सेल कार्यरूप देते हैं. इसका मकसद भारत के उच्च शिक्षा संस्थानों और विश्वविद्यालयों की सुनियोजित रैंकिंग करना है. यह रैंकिंग विद्यार्थियों और शिक्षकों के साथ-साथ कई अन्य सूचकांकों के आधार पर की जाती है जैसे कि टेक्नोलॉजी ट्रांस्फर, इनोवेशन, स्टार्ट-अप और उद्यमिता विकास शामिल है.