माइनस तापमान झेल रहे हैं राजस्थान के कुछ इलाके

शेखावटी में सर्दी के सारे रिकॉर्ड टूटने लगे हैं. लगातार पांच दिनों से तापमान माइनस
प्रतीक चित्र

जयपुर. कश्मीर और हिमाचल सहित कई इलाकों में हुई बर्फबारी की वजह से इस बार शेखावटी में सर्दी के सारे रिकॉर्ड टूटने लगे हैं. लगातार पांच दिनों से तापमान माइनस में चल रहा है. मंगलवार सुबह यहां का तापमान माइनस 3.5 डिग्री मापा गया हैं. प्रदेश के एकमात्र पर्वतीय पर्यटन स्थल माउंट आबू में भी एक दिन की राहत के बाद पारा फिर से जमाव बिंदु के नीचे पहुंच गया. इस कारण कई इलाकों में बर्फ की परत जम गई. सीकर जिले में पिछले पांच दिनों से तापमान माइनस में चल रहा है.

न्यूनतम तापमान कभी -0.2 तो कभी -1.2 डिग्री तक पहुंच रहा है. मंगलवार सुबह तो इसे माइनस 3.5 डिग्री मापा गया. यह इस मौसम का सबसे कम तापमान दर्ज हुआ है. पारे में आ रही गिरावट के कारण आने वाले दिनों में मौसम वैज्ञानिकों ने सर्दी के अधिक बढऩे का अंदेशा जताया है. साथ ही, तापमान इससे भी नीचे जाने और खेतों में जगह-जगह बर्फ जमने की आशंका जताई है.

ये भी पढ़ें- राजस्थान के मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री के बारे में यह खास बात जान लीजिए

उत्तर भारत के पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी और मौसम में बदलाव के चलते माउंट आबू में कड़ाके की सर्दी का अहसास हो रहा है. पर्वतीय पर्यटन नगरी माउंट आबू इन दिनों धुंध के आगोश में घिरी है. शहर के कई इलाकों में मंगलवार सवेरे बर्फ की परत जमी दिखी. तेज सर्दी के बावजूद पर्यटक माउंट आबू का रुख कर रहे हैं. देश के कई हिस्सों से पर्यटक यहां आकर सर्दी का मजा ले रहे हैं. दिल्ली, गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश एवं प्रदेश की सीमा से लगते हुए राज्यों के पर्यटक यहां आ रहे हैं. यहां सुबह के समय बगीचों, घरों के बाहर रखे पानी या कारों की छतों पर बर्फ की परत जम रही है. शेखावाटी मे सर्दी के कारण आम जनजीवन प्रभावित हो रहा है.

शेखावटी में सर्दी के सारे रिकॉर्ड टूटने लगे हैं. लगातार पांच दिनों से तापमान माइनस
प्रतीक चित्र

कृषि अनुसंधान केन्द्र

ठिठुरन भरी सर्दी से लोगों की दिनचर्या बुरी तरह प्रभावित हुई है. लोग सर्दी से बचाव के लिए जतन ढूंढ रहे हैं. शेखावाटी में मंगलवार को तापमान लगातार पाचवें दिन भी माइनस में रहा, जिससे लोग सर्दी से बचने के लिए गर्म कपड़ों और अलाव का सहारा लेते रहे. उत्तरी हवा से क्षेत्र में सर्दी के तेवर तीखे रहे. यहां के कृषि अनुसंधान केन्द्र पर तापमान लगातार पाचवें दिन भी गिरावट के साथ माइनस में मापा गया है. तापमान माइनस से नीचे जाने के कारण खेतों और बीहड़ के इलाकों में पेड़ों पर बर्फ जम गई है.

भीलवाड़ा-चूरू भी हुए सबसे सर्द

प्रदेश में बीती रात भीलवाड़ा और चूरू सरीखे इलाके काफी सर्द रहे. यहां न्यूनतम तापमान में आई गिरावट के कारण सर्दी का जोर बढ़ गया. लोगों का सांझ ढलने के बाद घरों से निकलना मुहाल हो गया. भीलवाड़ा में न्यूनतम तापमान 1 तथा चूरू में 0.7 मापा गया. इसके अलावा माउंट आबू में 0.4, अजमेर में 6.9, अलवर में 7.5, जयपुर में 7.3, पिलानी में 2.5, सीकर में 2, कोटा में 7.2, सवाईमाधोपुर में 6.8, चित्तौडग़ढ़ में 4.2, डबोक में 4.5, बाड़मेर में 9.6, जैसलमेर में 6.2, जोधपुर में 8.2, बीकानेर में 4.5 तथा श्रीगंगानगर में न्यूनतम तापमान का आंकड़ा 4.7 डिग्री सेल्सियस रहा. बीते दिन एकमात्र सवाईमाधोपुर (18.5) को छोडक़र अन्य शहरों का अधिकतम तापमान 21 से 23 डिग्री सेल्सियस के बीच बना रहा.