54 हजार युवाओं को नौकरियां दी हैं : अभिमन्यु

54 हजार युवाओं को नौकरियां दी हैं : अभिमन्यु-Panchayat Times
साभार इंटरनेट

नारनौंद. वित्त एवं राजस्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार ने अपने 4 साल के कार्यकाल में 54 हजार युवाओं को नौकरियां दी हैं जबकि भूपेंद्र सिंह हुड्डा की 10 साल की कांग्रेस सरकार में 18 हजार युवाओं को नौकरी मिली. हमारे 10 साल के शासनकाल में नौकरियां देने का आंकड़ा सवा लाख को पार करेगा.

वित्तमंत्री ने यह बात गांव माढा में ग्रामीण जनसभा को संबोधित करते हुए कही. यहां उन्होंने 22 लाख रुपए से बनी सामान्य चौपाल, 12 लाख रुपए से बनी नायक चौपाल और शहीद भगत सिंह की प्रतिमा का उद्घाटन भी किया. उन्होंने माढा के लिए अलग से तैयार किए गए फीडर का शुभारंभ किया. जिसके साथ ही गांव में 18 घंटे बिजली आपूर्ति शुरू हो गई है. ग्रामीणों ने वित्तमंत्री का भव्य अभिनंदन किया.  गांव के सरपंच जगदीश चहल ने बुका देकर, सत्यनारायण यादव ने शॉल ओढ़ाकर तथा झंडू गोस्वामी ने पगड़ी पहनाकर वित्तमंत्री को सम्मानित किया.

प्रतिभाशाली युवाओं को नौकरी मिली

वित्तमंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि पिछले चार साल में सरकार ने किसी सिफारिश, पर्ची या पैसे के लेन-देन के बिना मेरिट के आधार पर योग्य और प्रतिभाशाली युवाओं को नौकरियां दी हैं. हमारा मानना है कि पर्ची और धांधली से भर्ती होने वाले युवा 30 साल तक लोगों की क्या सेवा करेंगे. उन्होंने कहा कि हाल ही में हुई ग्रुप-डी की भर्तियों में किसी को कैप्टन अभिमन्यु को पर्ची देने की जरूरत नहीं पड़ी जबकि हरियाणा के सभी 90 हलकों में नारनौंद हलके के युवाओं की सबसे अधिक नौकरी लगी है.

उन्होंने कहा कि दूसरे दलों के नेता सोचते हैं कि युवा पढ़-लिखकर क्या करेंगे लेकिन हमने शिक्षा की रोशनी हर घर तक पहुंचाने के लिए हलके में चार कॉलेज, चार आईटीआई शुरू करवाई. जरूरत और मांग के अनुसार स्कूलों को अपग्रेड करवाया गया है. चार कॉलेज तो 10 साल मुख्यमंत्री रहने वालों के हलकों में भी नहीं हैं. निष्पक्ष भर्तियां शुरू होने से गरीब मां-बाप भी अब अपने बच्चों को भरोसे के साथ कहने लगे हैं कि बेटा पढ़-लिख लो, मेहनत करने से तुम्हें नौकरी जरूर मिलेगी.

वित्तमंत्री ने कहा कि पिछले चार साल के दौरान मैंने रात-दिन कोशिश की कि नारनौंद हलके की तस्वीर को बदल सकूं. हलके के सभी गांवों में विकास के कार्य करवाए जा रहे हैं. पीने के पानी, सड़कों के हालात को ठीक करने के लिए करोड़ों रुपये के प्रोजेक्ट चल रहे हैं. सिंचाई व्यवस्था के सुधार पर 200 करोड़ रुपए से काम करवाए जा रहे हैं. नारनौंद में 100 बिस्तर का अस्पताल बनने जा रहा है. जिसके निर्माण का कार्य अगले 10-15 दिन में शुरू हो जाएगा. इसमें महिलाओं के लिए 30 बिस्तरों का एयरकंडिशनर सेक्शन बनवाया जाएगा. नारनौंद को उपमंडल की सौगात दी गई है. सिसाय और बास भी अब गांव नहीं, शहर बन गए हैं.उन्होंने कहा कि लगातार प्रयासों के चलते आज नारनौंद हलका हरियाणा के मुख्य हलकों की कतार में खड़ा हुआ है.