समुद्री सुरक्षा और निवेश को लेकर इंडोनेशिया से सहमति

भारत और इंडोनेशिया के बीच प्रौद्योगिकी, समुद्र में सुरक्षा, कारोबार और निवेश...

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस वक्त तीन देशों की यात्रा पर निकले हैं. भारत और इंडोनेशिया के बीच प्रौद्योगिकी, समुद्र में सुरक्षा, कारोबार और निवेश को लेकर सहमति बनी है. राष्ट्रपति जोको विदोदो के साथ प्रतिनिधिमंडल स्तरीय द्विपक्षीय बातचीत के बाद पीएम मोदी ने ये बात कही.

बुधवार सुबह मोदी विदोदो के साथ कालीबाता स्मारक पहुंचे, जहां उन्होंने शहीदों को श्रद्धांजलि दी. मोदी तीन देशों की यात्रा पर हैं. इंडोनेशिया में दो दिन रुकने के बाद मोदी मलेशिया और सिंगापुर पहुंचेंगे. बता दें कि पीएम मोदी का इंडोनेशिया का पहला दौरा है वहीं, सिंगापुर का दूसरा दौरा है.

भारत और इंडोनेशिया के बीच प्रौद्योगिकी, समुद्र में सुरक्षा, कारोबार और निवेश...

ये भी पढ़ें- मोदी चले इंडोनेशिया, मलेशिया और सिंगापुर

इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विदोदो से मुलाकात के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि “दोनों देशों के बीच व्यापक रणनीतिक साझेदारी बढ़ाने पर सहमति बनी है. भारत और इंडोनेशिया 2025 तक द्विपक्षीय व्यापार 50 बिलियन डॉलर्स (करीब 3 हजार करोड़ रुपए) तक बढ़ाएंगे.”

इंडोनेशियन राष्ट्रपति के साथ साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में मोदी ने कहा कि “भारत और आसियान देशों की साझेदारी सिर्फ भारत-प्रशांत क्षेत्र ही नहीं, बल्कि इससे आगे भी शांति की गारंटी बन सकती है.” कुछ दिनों पहले इंडोनेशिया में चर्च पर हुए हमलों की निंदा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि “भारत ऐेसे किसी भी हमले की निंदा करता है.” मोदी ने भरोसा दिलाया कि आतंक के खिलाफ लड़ाई में भारत इंडोनेशिया के साथ खड़ा है.