जाली खबर : सौ से अधिक उम्मीदवार, तो चुनाव बैलेट पेपर से

जाली खबर की इस तरीके से करे पहचान Panchayat Times

नई दिल्ली. जाली खबरों को पकड़ने और उसकी पड़ताल करने की हमारी कोशिश लगातार जारी है. लोकसभा चुनाव को देखते हुए कई भ्रामक खबरें फैलाईं जा रही हैं. जिनका कोई हाथ-पैर नहीं होता है. यानि वो खबरें जो वास्तविकता से कोशों दूर है. काकावाणी नाम की प्रोफाइल के साथ ट्विटर पर एक अकाउंट है. उस जैसे और लोगों ने इस खबर को फैलाया कि सौ से अधिक उम्मीदवार अगर किसी क्षेत्र में हुए तो चुनाव आयोग उस सीट पर केवल बैलेट पेपर से ही चुनाव करा सकता है. क्योंकि ईवीएम में 100 से अधिक उम्मीदवारों की क्षमता नहीं है. सबसे पहले हम बता दें कि ये जाली खबर है. एकदम ही फेक न्यूज है. जिसे चुनाव आयोग ने खुद स्वीकारा है. पहले आप देखिये कि आखिर क्या है वो जाली खबर.

अब आपको बता देते हैं कि ईवीएम की क्षमता 384 उम्मीदवारों की है. तो ऐसा कहना कि 100 ही उम्मीदवार की लिमिट है बिलकुल गलत है. चुनाव आयोग की तरफ से शेफाली शरन (Sheyphali Sharan) ने भी ट्वीट करके इस खबर को जाली खबर बताया है. उन्होंने साफ कर दिया है कि नोटा को मिलाते हुए 284 ऑपशन(उम्मीदवार) तक हो सकते हैं.