हिमाचल में साहसिक खेलों को बढ़ावा दिया जाएगा : जयराम ठाकुर

एमटीबी हिमालय-शिमला एडिशन-2018 के पुरस्कार, जयराम ठाकुर साहसिक खेलों...

शिमला. मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश के अनछुए गंतव्यों में पर्यटन गतिविधियों के साथ-साथ साहसिक खेलों को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार विशेष प्रयास करेगी. वह रविवार को शिमला में 7वीं हीरो एमटीबी हिमालय-शिमला एडिशन-2018 के पुरस्कार वितरण समारोह की अध्यक्षता करते हुए बोल रहे थे. इस स्पर्धा का आयोजन हिमालयन एडवेंचर स्पोर्टस एवं पर्यटन प्रमोशन एसोसिएशन (एचएएसटीपीए) ने 13 से 15 अप्रैल, 2018 तक किया.

एमटीबी हिमालय-शिमला एडिशन-2018 के पुरस्कार, जयराम ठाकुर साहसिक खेलों...
साभार- फेसबुक

मुख्यमंत्री ने कहा कि एचएएसटीपीए की यह पहल शिमला शहर को हरा-भरा बनाने और लोगों को स्वस्थ जीवन शैली अपनाने को प्रेरित करने में सहायक सिद्ध होगी. उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य में साहसिक खेलों को बढ़ावा देने के लिए प्रयास करेगी. इस तरह की गतिविधियां न केवल स्वस्थ जीवनशैली के लिए आवश्यक है बल्कि पर्यावरण संरक्षण में भी सहायक सिद्ध होती है. उन्होंने कहा कि “हिमालय विश्व की सबसे सुंदर पर्वतश्रंखला है लकिन इन्हें पार करना उतना ही कठिन भी है. इसके साथ ही साइकिल के माध्यम से उन्हें चुनौती देना अपने आप में सराहनीय है.”

एमटीबी हिमालय-शिमला एडिशन-2018 के पुरस्कार, जयराम ठाकुर साहसिक खेलों...
एमटीबी हिमालय-शिमला एडिशन-2018 की झलक

जयराम ठाकुर ने कहा कि माउंटेन बाइकिंग विश्व का राजस्व सृजित करने वाला सबसे बड़ा साहसिक खेल होने के साथ-साथ पर्यावरण मित्र भी है. हिमाचल प्रदेश में माउंटेन बाइकिंग की अपार संभावनाएं हैं और यहां बाइकिंग ट्रेक विकसित करने के प्रयास किए जाएंगे. उन्होंने कहा कि माउंटेन बाइक राज्य में आने वाले पर्यटकों के लिए आकर्षण का विशेष केंद्र है. प्रदेश सरकार एसोसिएशन को राज्य में साहसिक खेल को बढ़ावा देने के लिए हर संभव सहायता उपलब्ध करवाएगी. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए बजट में 50 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है. इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कार भी वितरित किए.

कॉमेंट करें

अपनी टिप्पणी यहाँ लिखें
अपना नाम यहाँ लिखें