झारखंड के 10 जिले अपराधियों के साए में

झारखंड पुलिस मुख्यालय में राज्य के डीजीपी डीके पांडेय के नेतृत्व में बढ़ते अपराध को लेकर एक समीक्षा बैठक

रांची. झारखंड पुलिस मुख्यालय में राज्य के डीजीपी डीके पांडेय के नेतृत्व में बढ़ते अपराध को लेकर एक समीक्षा बैठक की गई जिसमें 10 जिलों के पुलिस अधिकारी मौजूद थे जिन्हें उच्च न्यायालय द्वारा अधिक अपराध होने के जिलों की श्रेणी में रखा गया है. उच्च न्यायालय ने इन 10 जिलों के एक हजार केसों के स्पीडी ट्रायल के निर्देश दिए हैं. जिसे ध्यान में रखते हुए डीजीपी के नेतृत्व में एक बैठक की गई.

ये भी पढ़ें- मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा बढ़ाओ काम की रफ्तार

बैठक में डीजीपी ने इन केसों के निपटारे के लिए कड़े निर्देश जारी किए. बैठक में शामिल एडीजी सीआईडी प्रशांत सिंह ने बताया की चिन्हित 10 जिलों में झारखंड राज्य के 50% अपराध होते हैं. पुलिस मुख्यालय की इस बैठक में उन 10 जिलों में दो ऐसे थाने चुने गए हैं जहां सबसे ज्यादा आपराधिक मामले दर्ज किए जाते है. इन जिलों के एसपी को विशेष दिशा निर्देश दिए गए हैं ताकि आपराधिक घटनाओं में कमी आ सके. 16 जून को फिर से इन मामलों की समीक्षा की जाएगी.