झारखंड में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए बिहार, बंगाल, ओडिशा और छत्तीसगढ़ सीमा पर बैरिकेडिंग, ग्रामीण क्षेत्र के रास्ते भी बंद

झारखंड में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए बिहार, बंगाल, ओडिशा और छत्तीसगढ़ सीमा पर बैरिकेडिंग, ग्रामीण क्षेत्र के रास्ते भी बंद - Panchayat Times

रांची. झारखंड में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए राज्य की सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है. आधिकारिक सूत्रों ने बीते रविवार को बताया कि हर आने जाने वाले लोगों के नाम और पता जे साथ फोन नंबर भी चेक नाका पर लिया जा रहा हैं.

बिहार, बंगाल, ओडिशा और छत्तीसगढ़ सीमा पर बैरिकेडिंग

बिहार, बंगाल, ओडिशा और छत्तीसगढ़ सीमा पर बैरिकेडिंग कर दी गई है. पुलिस मुख्यालय के आदेश के बाद सीमाओं पर मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस बलों की तैनाती की गई है. पास वाले वाहनों में सवार लोगों का भी मेडिकल जांच के बाद प्रवेश दिया जा रहा है.

ग्रामीण क्षेत्र के रास्ते भी बंद

वहीं, दूसरे राज्यों से ग्रामीण क्षेत्र के रास्ते झारखंड में प्रवेश करने वाले वाहनों को रोकने के लिए गांव के बाहर भी बांस और बल्ली से बैरिकेडिंग की गई है. सरकार के आदेश के बाद आवश्यक सेवा को छोड़, बिना पास के दूसरे राज्यों से आने वाले वाहन और लोगों के प्रवेश करने पर रोक लगाई गई है. बिहार से सटे सभी चेकनाकों पर विशेष चौकसी बरती जा रही है. झारखंड से बिहार में कोरोना महामारी की स्थिति भयावह हैं.

वेबसाइट पर अपना नाम और अन्य विवरण अनिवार्य रूप से दर्ज कराने की बात

उल्लेखनीय है कि बीते 17 जुलाई को झारखंड में कोराना संक्रमण के बढ़ते खतरे के बीच राज्य सरकार ने एक आदेश जारी किया था. इसके तहत सड़क, रेल और वायु मार्ग से झारखंड आने वाले लोगों को वेबसाइट jharkhandtravel.nic.in पर अपना नाम और अन्य विवरण अनिवार्य रूप से दर्ज कराने की बात कहीं गयी थी. साथ ही 14 दिनों के गृह एकांतवास में रहने को कहा गया था.

जारी आदेश में कहा गया था कि झारखंड आने से पहले या पहुंचने के तुरंत बाद सरकार के वेबसाइट पर अपना विवरण दर्ज करना अनिवार्य होगा. नहीं तो उन लोगों के खिलाफ करवाई की जायेगी.