झारखंड : साल के पहली तिमाही में रेप की शिकायतों में आई कमी

रांची. झारखंड में 2018 के पहली तिमाही में बलात्कार के मामलों में कमी आई है. हालांकि राज्य में पिछले चार सालों में लगातार बलात्कार के मामले बढ़े रहे हैं.

राज्यभर में साल 2014 में कुल 1,122 बलात्कार के मामले दर्ज किए गए हैं वहीं साल 2015, 2016, 2017 में क्रमश: 1,198, 1,146 और 1,335 मामले दर्ज किए गए हैं.

2014 में हर महीने जहां 93.50 केसेज दर्ज किए गए वहीं 2017 में यह बढ़कर 113.08 प्रति माह हो गया.

मार्च 2018 में अबतक 328 बलात्कार के मामले दर्ज किए गए हैं.

 

पुलिस के मुताबिक पड़ोसी राज्यों छत्तीसगढ़ और पश्चिम बंगाल के मुकाबले यहां पर बलात्कार के अधिक मामले दर्ज हुए हैं.

सीआईडी के अधिकारी के मुताबिक, “महिलाओं की सुरक्षा के लिए कई उपाय किए गए हैं. एक तिहाई महिलाकर्मियों को पदोन्नत करके ड्युपटी सुप्रीटेंडेंट ऑफ पुलिस बनाया गया है.” इसके साथ ही महिलाओं की सुरक्षा के लिए शक्ति एप्प को लांच किया गया है.

झारखंड में बढ़ते रेप के मामलों को लेकर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने डीजी डीके पांडेय को राजभवन तलब किया था. उन्होंने डीजी को महिला सुरक्षा के लिए आवश्यक कदम उठाने के लिए कहा था.