सर्जन से मारपीट के विरोध में हड़ताल पर गए झारखंड के डॉक्टर

रांची. जामताड़ा के सिविल सर्जन से मारपीट के विरोध में राज्य के 1,800 चिकित्सक हड़ताल पर चले गए हैं. चिकित्सकों के हड़ताल का असर सरकारी अस्पतालों पर भी पड़ रहा है. आपातकालीन और सर्जन सेवा को छोड़कर अन्य सभी चिकित्सकीय सेवाएं बाधित हैं.

झारखंड स्टेट हेल्थ सर्विसेज एसोसिएशन के महासचिव डॉ. विमलेश सिंह के मुताबिक, राज्य भर के 1800 चिकित्सक हड़ताल पर हैं. सदर अस्पताल, रेफरल अस्पताल, पीएचसी, सीएचसी समेत अन्य सरकारी केंद्रों पर हड़ताल का असर पड़ रह है.

रांची, जमशेदपुर सहित राज्य के अन्य जिलों में ओपीडी कार्य का बहिष्कार किया गया है.

चिकित्सकों पर हमले व उनके साथ दु‌र्व्यवहार का एसोसिएशन विरोध कर रही है. एसोसिएशन ने सिविल सर्जन पर हमला करने वाले दोषियों की तत्काल गिरफ्तारी व उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है. साथ ही, तोपचांची (धनबाद) के चिकित्सक को जान से मारने की धमकी देने वालों के खिलाफ भी कठोर कार्रवाई की मांग की है. जामताड़ा सिविल सर्जन के साथ 18 फरवरी को मारपीट करने का मामला सामने आया था.

यह भी पढ़े : नहीं खुला आंगनबाड़ी केन्द्र, अनिश्चितकालीन हड़ताल की चेतावनी

कॉमेंट करें

अपनी टिप्पणी यहाँ लिखें
अपना नाम यहाँ लिखें