गेंदा फूल की खेती करने में जुटे खूंटी के किसान

गेंदा फूल की खेती करने में जुटे खूंटी के किसान-Panchayat Times
खूंटी. जिले के किसान अब बड़े पैमाने पर गेंदा फूल की खेती करने में जुट गए हैं और पश्चिम बंगाल की तर्ज पर फूलों की खेती कर अपनी आर्थिक स्थिति भी बेहतर बना रहे हैं. इस बार की दीपावली में रांची, खूंटी और लोहरदगा के बाजारों में खूंटी की माटी में उपजे गेंदा फूल कई घरों और दूकानों की शोभा बढ़ाएंगे.
गेंदा फूल की खेती करने में जुटे खूंटी के किसान-Panchayat Times
बारिश के बाद लगातार खेतों में गेंदा फूल तोड़ने के लिए, महिला पुरुष और बच्चे सभी दिन रात लगे रहे. दीपावली बाजार में बढ़ती फूल की मांग के कारण बड़ों के साथ साथ बड़ी संख्या में बच्चे भी माला बनाने में जुटे थे. गेंदा फूल की माला 20 से 30 रुपया प्रति माला के हिसाब से बाजार में बिक्री के लिए उपलब्ध है.
गेंदा फूल की खेती करने में जुटे खूंटी के किसान-Panchayat Times
जिले के सुदूरवर्ती इलाके लान्दूप, सिलादोन, संडासोम, हितुटोला, मारंगहाद, मुरहू इलाकों में प्रदान के सहयोग से कई किसान और महिला समूह 200 एकड़ से ज्यादा जमीन में गेंदा फूल की खेती कर अपनी आय दोगुनी कर रहे हैं. कई किसान एक एकड़, दो एकड़, तीन एकड़ में सिर्फ गेंदा फूल की ही खेती किये हैं. जंगलों के बीच दूर से ही फूल की खेती लोगों का ध्यान आकृष्ट करती है. अफीम की खेती को लेकर बदनाम खूंटी अब सकारात्मक दिशा में अपना कदम बढ़ा चुका है. मात्र ढाई माह के बरसाती मौसम में की गयी गेंदा फूल की खेती से कई किसान लखपति बन गए हैं. दशहरा दीपावली और छठ में अब राजधानी में भी खूंटी में किये गए गेंदा फूल की डिमांड बढ़ी है. सुबह चार बजे से ही खूंटी के फूल राजधानी समेत अन्य जिलों में पहुंचने लगे. उम्मीद है खूंटी के माटी से उपजे गेंदा फूल की लड़ियों से राजधानी समेत अन्य इलाकों के घर और दूकान आकर्षक ढंग से सजेंगे.
गेंदा फूल की खेती करने में जुटे खूंटी के किसान-Panchayat Times