किन्नर कैलाश यात्रा के पूर्ण प्रतिबंध के बाद भी गुपचुप रूप से जा रहे लोग

किन्नर कैलाश यात्रा के पूर्ण प्रतिबंध के बाद भी गुपचुप रूप से जा रहे लोग-Panchayat Times

किन्नौर. जिला किन्नौर में किन्नर कैलाश यात्रा को लेकर देव समाज व प्रशासन ने पिछले दो महीने पूर्व किन्नर कैलाश में हो रहे हादसों को देखकर किन्नर कैलाश यात्रा को इस वर्ष पूरी तरह बन्द कर दिया था. लेकिन बावजूद इसके भी किन्नर कैलाश यात्रा कुछ लोग गुपचुप रूप से कर रहे है. एक ऐसा ही मामला किन्नर कैलाश यात्रा का जिसमें एक युवती व युवक ने ताजा तस्वीरे अपने सोशल मीडिया अकॉउंट पर शेयर की है.

बता दें कि प्रशासन ने किन्नर कैलाश यात्रा को रोकने के लिए कैलाश यात्रा के लिए शुरू होने वाले मार्ग तांगलिंग गांव में पुलिस की तैनाती भी की थी. ताकि कोई गुपचुप रूप से कैलाश यात्रा न कर सके. ऐसे में पुलिस व प्रशासन की कार्यप्रणाली पर भी सवाल या निशान खड़े हो रहे है.वही दूसरी ओर किन्नर कैलाश यात्रा पर पूर्ण प्रतिबंध होने के बाद भी कुछ लोग अपनी जान जोखिम में डालकर व प्रशासन के निर्देशों की अवहेलना कर कैलाश यात्रा कर रहे है. बता दे कि कुछ महीने पहले भी कुछ युवक प्रशासन की अनुमति के बिना किन्नर कैलाश यात्रा पर निकले थे. जिसमें दो युवकों की ग्लेशियर व ऑक्सीजन की समस्या आने से मौत हुई थी.

इस बारे में एसडीएम कल्पा अविनन्दर शर्मा ने बताया कि, किन्नर कैलाश यात्रा को इस वर्ष पूर्ण प्रतिबंध किया गया है. पिछले दिनों किन्नर कैलाश प्रतिबंध के लिए कई स्थानीय पंचायत, देव समाज व प्रशासन की बैठक में इस वर्ष किन्नर कैलाश यात्रा पर प्रतिबंध करने का प्रस्ताव पास हुआ है.इस बार किन्नर कैलाश की पहाड़ियों पर ग्लेशियर और बर्फ़ जमी हुई है. जिससे फिसलने का खतरा भी बना हुआ है. इसलिए कई विषयों को लेकर यात्रा पर प्रतिबंध किया गया है,यदि कोई गुपचुप तरीके से कैलाश यात्रा कर रहा है, तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.