प्रधानमंत्री मोदी द्वारा आंदोलन खत्म करने की अपील पर किसान नेता राकेश टिकैत ने कही ये बात

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा आंदोलन खत्म करने की अपील पर किसान नेता राकेश टिकैत ने कही ये बात

नई दिल्ली. किसान संगठनों को केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों का विरोध करते हुए 2 महीने से अधिक समय हो चुका है. सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद में किसानों से आंदोलन वापस लेने की अपील की. पीएम की अपील पर प्रतिक्रिया देते हुए किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार सबसे पहले न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कानून बनाए तभी यह आंदोलन समाप्त होगा.

किसान अपनी मांगो पर अडिग

किसानों की मुख्य मांगों में एमएसपी और कृषि मंडियों पर कानून है. इसके साथ ही किसान तीनों नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर अडिग है. इसके चलते किसान संगठनों ने 75 दिनों से राजधानी दिल्ली का घेराव किया हुआ है. इस बीच केंद्र सरकार और किसान नेताओं के बीच 11 दौर की बैठक हुई. सभी बैठकें नतीजे तक पहुंचने में नाकाम रही.

जब तक कानून वापसी नहीं, तब तक घर वापसी नहीं – किसान

हालांकि सरकार द्वारा तीनों नए कानूनों को 2 साल तक स्थगित करने का प्रस्ताव दिया गया था. लेकिन किसानों द्वारा इस प्रस्ताव को खारिज कर दिया गया. फिलहाल सुप्रीम कोर्ट ने इन कानूनों पर स्टे लगाया हुआ है. किसान ‘जब तक कानून वापसी नहीं, तब तक घर वापसी नहीं’ के नारे के साथ दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए है.

प्रधानमंत्री मोदी की अपील

प्रधानमंत्री मोदी ने किसान नेताओं से कहा कि वे बातचीत के जरिए इस समस्या का समाधान निकालें. सरकार उनके साथ बात करने के लिए हर समय तैयार है. कि हम आंदोलन से जुड़े लोगों से लगातार प्रार्थना करते हैं कि आंदोलन करना आपका हक है, लेकिन बुजुर्ग भी वहां बैठे हैं. उनको ले जाइए, आंदोलन खत्म करिए. यह, खेती को खुशहाल बनाने के लिए फैसले लेने का समय है और इस समय को हमें नहीं गंवाना चाहिए.