17 जून से सांस्कृतिक कार्यक्रमों से सराबोर होगा कुल्लू

कुल्लू. सूत्रधार कला संगम कुल्लू ने 17 जून से जिला कुल्लू के स्कूली छात्रों के बीच सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा. इस 41वें सूत्रधार वर्षगांठ उत्सव का आयोजन ऐतिहासिक लाल चन्द प्रार्थी कलाकेन्द्र कुल्लू में 17 से 21 जून 2018 तक प्रतिदिन किया जा रहा है.

संस्था के अध्यक्ष दिनेश सेन ने बताया कि इस बार पूर्व की भान्ति लोकनृत्य, समहू नृत्य, प्रिंस सूत्रधार, प्रिंसेस सूत्रधार, समूहगान, लघुनाटक, फैशन शो, मूकअभिनय, लोकगीत, फिल्मगीत, वाद्यवृन्द, फैंसीड्रेस तथा चित्रकला की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा. इस 41वें सूत्रधार वर्षगांठ उत्सव में विभिन्न पाठशालाओं की प्रतियोगिताओं का कार्यक्रम 17 जून से 21 जून 2018 तक प्रतिदिन शाम पांच बजे से रात्रि दस बजे तक ऐतिहासिक लाल चंद प्रार्थी कलाकेन्द्र कुल्लू में होगा. जबकि नाटक प्रतिस्पर्धा देवसदन कुल्लू के सभागार में 18 जून 2018 को प्रात: दस बजे से होगी.

वही, चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन लाल चंद प्रार्थी कलाकेन्द्र कुल्लू में सुबह दस बजे से होगा. जिसमें प्राथमिक और माध्यमिक वर्ग की प्रतियोगिता 19 जून को तथा वरिष्ठ वर्ग की प्रतियोगिता 20 जून को होगी. उन्होंने बताया कि इस पांच दिवसीय उत्सव में कुल्लू घाटी के बजौरा से लेकर मनाली तक के निजी और सरकारी 41 पाठशालाओं के लगभग 1500 प्रतिभागी छात्र-छात्राएं अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करेंगें.

उन्होंने बताया कि इस समूचे कार्यक्रम में सभी कलाप्रेमियों व दर्शकों के लिए प्रवेश निशुल्क रहेगा. जबकि विशेष दीर्घाओं की प्रविष्टि केवल प्रवेश पत्र द्वारा ही होगी. दिनेश सेन ने कहा कि सूत्रधार वर्षगांठ उत्सव जोकि कुल्लू जनपद की युवा एवं बाल प्रतिभाओं को समर्पित है. इसकी शुरुआत संस्था के सिल्वर जुबली वर्षगांठ उत्सव 2002 से शुरू हुई थी.

उस समय इस क्षेत्र की युवा पीढ़ी जो अपनी संस्कृति से विमुख होती जा रही थी तथा दुर्व्यसनों में संलिप्त होती जा रही थी. उसे अपनी संस्कृति से जोड़ने और उनकी युवा शक्ति का प्रयोग सृजनात्मक कार्यों में लगाने के उदेश्य से इस तरह के सांस्कृतिक उत्सव आयोजन करने का निर्णय लिया गया था.