देवघर हवाई अड्डा के विस्थापितों की सहायता करेगी राज्य सरकार

झारखंड में देवघर जिला प्रशासन देवघर हवाई अड्डा के विस्थापित...- Panchayat Times

देवघर/रांची. झारखंड में देवघर जिला प्रशासन देवघर हवाई अड्डा के विस्थापित परिवारों को हर संभव सुविधा मुहैया करा कर उनके जीवन स्तर को बेहतर बनाने का काम कर रही है. आधिकारिक सूत्रों ने आज यहां बताया कि उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा ने सभी संबंधित विभागों द्वारा नैयाडीह में रहने वाले विस्थापितों को हर संभव सहयोग व सुविधा मुहैया कराने का निर्देश दिया है ताकि उनकी आर्थिक स्थिति को सुदृढ़ करते हुए उन्हें समाज की मुख्य धारा से जल्द से जल्द जोड़ा जा सके.

इसके तहत देवघर प्रखण्ड अन्तर्गत नैयाडीह ग्राम में इन विस्थापित परिवारों को बसाने का कार्य किया गया है. सरकार की मंशा इन सभी को बेहतर जीवन एवं आय संवर्द्धन के लिए मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराना है. सिर्फ इतना ही नहीं मुख्य धारा से जुड़ने के लिए जिला प्रशासन सभी को हर संभव मदद करने को तैयार है. जिला प्रशासन ने विस्थापितों को फूलों के व्यवसाय से जोड़ा है. इसके लिए कृषि विज्ञान केंद्र सुजानी को गुलाब, जरबेरा, चमेली व ग्लेडियोलस फूल की खेती की जिम्मेदारी दी गई है. ज्ञात हो कि फूलों के इस रोजगार से जुड़कर विस्थापित प्रतिवर्ष लाखों रुपये कमा सकते हैं. इसमें चमेली व ग्लेडियोलस की खेती तकनीक रूप से होगी. फूल तैयार होने के बाद इसे एक पर्यटक व प्रशिक्षण स्थल के रुप में इसे विकसित किया जायेगा.

ये भी पढ़ें- हर बच्ची को मिले पढ़ने का अधिकार : रघुवर दास

जिला प्रशासन के सहयोग से नैयाडीह ग्राम में रहने वाले विस्थापित परिवारों के द्वारा वहां खाली पड़े जमीन पर वृहत स्तर पर बागवानी व फूलों की खेती की जा रही है. इससे उनकी आय में भी वृद्धि आई है. इसके अलावा यहां स्वयं सहायता ग्रुप बनाकर उन्हें फूलों यथा-गुलाब, गेंदा, डाहलिया, धतूरा आदि की खेती करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है, ताकि उन्हें रोजगार के नये अवसर मिलने के साथ-साथ आर्थिक जीवन स्तर को बेहतर बनाने में सहायता मिल सके.

उन्हें उत्पादित फूलों का बाजार भी उपलब्ध कराया जा रहा है. इससे इन्हें अपनी फूलों की बिक्री करने में आसानी हो रही है. इसके तहत वर्तमान में नैयाडीह के विस्थापितों द्वारा उत्पादित फूलों का प्रयोग बाबा मंदिर में पूजा करने एवं साज-सज्जा के लिए किया जा रहा है. इसके अलावा अभी दुर्गापूजा के दौरान बाबा मंदिर में उनके द्वारा वृहद स्तर पर फूलों की बिक्री की गई, जिससे उनकी आय में वृद्धि हुई है एवं जीवन स्तर में सुधार आया है. साथ ही एयरपोर्ट में अतिथियों के स्वागत में प्रयोग होने वाले फूलों का गुलदस्ता भी एयरपोर्ट के विस्थापितों द्वारा ही तैयार कराया जाएगा.

इस संदर्भ में उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा द्वारा निदेशित किया गया है कि सभी संबंधित विभागों द्वारा नैयाडीह में रहने वाले विस्थापितों को हर संभव सहयोग व सुविधा मुहैया कराई जाए, ताकि उनकी आर्थिक स्थिति को सुदृढ़ करते हुए उन्हें समाज की मुख्य धारा से जल्द से जल्द जोड़ा जा सके.